लखनऊ: भीमराव आंबेडकर की हार के बाद मायावती कर रही हैं कार्यकर्ताओं के साथ बैठक

0
52

लखनऊ: राज्यसभा चुनाव में अपने उम्मीदवार भीमराव आंबेडकर की हार के बाद लखनऊ में बीएसपी सुप्रीमो मायावती की पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ बैठक जारी है. बैठक से पहले उन्होंने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि सपा-बसपा का गठबंधन स्वार्थपूर्ण नहीं है बल्कि बीजेपी को रोकने के लिए महागठबंधन है.

माना जा रहा है कि इस बैठक में मायावती बसपा कॉआर्डिनेटरों से सपा-बसपा गठबंधन को लेकर फॉर्मूले पर विचार कर सकती हैं. आपको बता दें कि मायावती 2019 लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी (सपा) से गठबंधन कर चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुकी हैं.

इस बैठक में राजस्थान और मध्य प्रदेश के पार्टी प्रभारी भी मौजूद रहेंगे. बीएसपी के एक बडे नेता की मानें तो इन दोनों राज्यों में कांग्रेस के साथ मिलकर विधानसभा चुनाव लड़े तो कोई हैरानी नहीं होनी चाहिए. हाल में ही एमपी का चित्रकूट विधानसभा उपचुनाव कांग्रेस ने जीत लिया था. कांग्रेस के आग्रह पर बीएसपी चुनाव नहीं लड़ी थी. एमपी में बीएसपी के अब भी चार एमएलए हैं. मध्य प्रदेश और राजस्थान में इसी साल के आखिरी में वोट डाले जाएंगे.

राज्यसभा चुनाव में हार के बाद मायावती ने शनिवार को कहा था कि चुनाव परिणाम का समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

2019 के आम चुनाव में भाजपा को इसका (राज्यसभा चुनाव) परिणाम भुगतना होगा. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा, राज्यसभा चुनाव से बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी के रिश्तो में कोई अंतर नही आयेगा, बल्कि दोनों पार्टियों के लोग मिलकर आने वाले चुनाव में पूरी ताकत झोंक देंगे. कांग्रेस पुरानी सहयोगी हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here