अब घर पर ही ऐप की मदद से कर सकेंगे कोरोना की जांच, ICMR ने दी मंज़ूरी

0

नई दिल्ली: अब कोविड 19 की जांच घर पर भी की जा सकेगी. आइसीएमआर ने रैपिड ऐंटिजेन टेस्ट के ज़रिए घर में ही कोविड 19 टेस्ट करने की इजाज़त दे दी है. इसके लिए 
मायलैब डिस्कवरी सॉल्यूशंस लिमिटेड पुणे के एंटीजन किट को मंजूरी दे दी है. इसमें खास बात ये है की आपके घर पर किए गए टेस्ट की रिपोर्ट ऐप के जरिए आइसीएमआर तक पहुंचेगी जिसे गोपनीय रखा जाएगा. 

होम टेस्टिंग ऐप गूगल प्ले स्टोर और ऐपल स्टोर पर उपलब्ध है और होम टेस्टिंग करने वाले सभी यूज़र्स को इन ऐप को डाउनलोड करना होगा. मोबाइल ऐप में टेस्टिंग की पूरी प्रक्रिया को अच्छे तरीके से समझाया गया है और इस ऐप के ज़रिए ही रोगी को पॉज़िटिव या निगेटिव नतीजों की जानकारी दी जाएगी. सभी यूज़र्स को टेस्ट पूरा होने के बाद टेस्ट स्ट्रिप की फोटो उसी मोबाइल से लेनी होगी, जिस पर की ऐप डाउनलोड और रजिस्ट्रेशन किया गया है. ऐप में मौजूद डेटा को एक सिक्योर सर्वर पर कैप्चर किया जाएगा, जोकि आइसीएमआर कोविड-19 के टेस्टिंग पोर्टल से कनेक्टेड होगा. 

इसको लेकर खास तौर से दिशा निर्देश भी जारी किए गए हैं-  

– ये रैपिड ऐंटिजेन टेस्ट की होम टेस्टिंग सिर्फ सिम्प्टोमैटिक यानी लक्षण वाले व्यक्तियों और लैब से कन्फ़र्म्ड पॉज़िटिव रोगियों के कॉन्टेक्ट्स ही कर सकते हैं. 

– आइसीएमआर ने इस तरह की टेस्टिंग को बहुत ज़्यादा ना करने की सलाह दी है. 

– टेस्ट किट में दिए गए यूज़र मैन्यूअल के मुताबिक़ ही घर पर टेस्टिंग की जानी चाहिए. 

– सभी यूज़र्स को टेस्ट पूरा होने के बाद टेस्ट स्ट्रिप की फ़ोटो उसी मोबाइल से लेनी होगी जिस पर की ऐप डाउनलोड और रजिस्ट्रेशन किया गया है. ऐप में मौजूद डेटा को एक सिक्योर सर्वर पर कैप्चर किया जाएगा, जोकि आइसीएमआर कोविड-19 के टेस्टिंग पोर्टल से कनेक्टेड होगा. 

– गोपनीयता पूरी तरह से रखी जाएगी. 

– इस एंटीजन टेस्ट में पॉजिटिव पाए जाने पर संक्रमित मान लिया जाएगा और दोबारा टेस्ट की जरूरत नहीं होगी. 

– टेस्ट में पॉजिटिव पाए जाने वाले सभी व्यक्तियों को सलाह दी जाती है कि वे आईसीएमआर और स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार होम आइसोलेशन और देखभाल का पालन करें और परिवार कल्याण (MoH&FW) प्रोटोकॉल जिसे https://www.icmr.gov.in/chomecare.html पर देखा जा सकता है. 

– इस रैपिड एंटीजन में निगेटिव आने वाले सभी लक्षण वाले व्यक्तियों को तुरंत आरटीपीसीआर द्वारा अपना परीक्षण करवाना चाहिए. ये इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि रैपिड एंटीजन में कम वायरल लोड की वजह से ऐसी रिपोर्ट आ सकती है.  

– सभी रैपिड एंटीजन टेस्ट में निगेटिव आने वाले लक्षण वाले व्यक्तियों को संदिग्ध COVID-19 मामलों के रूप में माना जाएगा और उन्हें RTPCR टेस्ट के नतीजे जब तक नहीं आते है तब तक आइसीएमआर और स्वास्थ्य मंत्रालय के होम आइसोलेशन प्रोटोकॉल का पालन करना होगा. 

– यूजर मैनुअल में निर्माता द्वारा निर्धारित प्रोटोकॉल के अनुसार सभी परिणामों की व्याख्या की जा सकती है. वहीं टेस्टिंग किट, स्वाब और बाकी सामग्री के डिस्पोजल के लिए निर्माता के निर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाना चाहिए.  

फिलहाल ऐसे टेस्ट किट के लिए सिर्फ एक कंपनी को मंजूरी दी गई है. मायलैब डिस्कवरी सॉल्यूशंस लिमिटेड पुणे की एंटीजन किट को मंजूरी दे दी है, जो जल्द उपलब्ध होगी. इसकी कीमत के बारें में कंपनी जल्द बताएगी.