आप सांसद संजय सिंह का यूपी सरकार पर हमला, सीएम योगी को लेकर कसा तंज

0

highlights

  • आम आदमी पार्टी का यूपी की योगी सरकार पर हमला
  • जल-जीवन मिशन कार्यक्रम में लगाया भ्रष्टाचार का आरोप
  • यूपी में चल रही योगी बाबा 40 चोरों की सरकारः संजय सिंह 

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2022 की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं सियासी दल अपनी-अपनी तैयारियों में जुट गए हैं. कोई भी सियासी दल इस बार यूपी चुनाव में अपनी जीत के लिए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ना चाहता है. वैसे तो उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी, कांग्रेस बहुजन समाज पार्टी और सपा प्रमुख राजनीतिक दल हैं लेकिन इस बार विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी भी उतर रही है तो वहीं पर एमआईएम और जनता दल युनाइटेट भी चुनावी अखाड़े में ताल ठोकते हुए दिखाई दे रहे हैं. आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद पिछले कई महीनों से यूपी की योगी सरकार पर हमलावर हैं. 

रविवार को एक बार फिर आप सांसद संजय सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके यूपी की योगी सरकार पर हमला बोला, आप सांसद ने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा, मैंने बचपन मे अलीबाबा और 40 चोर वाली कहानी पढ़ी थी. यूपी में योगी बाबा और 40 चोर वाली कहानी चल रही है. उन्होंने हमला जारी रखते हुए आगे कहा कि, उत्तर प्रदेश में पेयजल के मामले में हम केवल 11 प्रतिशत लोगों को पानी दे पाते हैं. केंद्र सरकार ने जल जीवन मिशन की शुरुआत की है जिसमें एक लाख 20 हजार करोड़ रुपयों का महाघोटाला हुआ है और ये घोटाला सरकार के प्रमुख सचिव महेंद्र सिंह की निगरानी में हो रहा है. 

यह भी पढ़ेंः देश को दुखदाई हालत में छोड़कर प्रधानमंत्री और गृहमंत्री लापता : संजय सिंह

संजय सिंह ने हमला जारी रखते हुए कहा कि यूपी में 30 हजार करोड़ का घोटाला हुआ है. संजय सिंह ने बताया कि रश्मि मैटेलिक कंपनी को इस योजना में पाइप सप्लाई की जिम्मेदारी दी गई है. इस कंपनी को ओडिशा सरकार ने घटिया पाइप सप्लाई के चलते रिजेक्ट कर चुकी है. इतना ही नहीं इस कंपनी को मध्यप्रदेश, पश्चिम बंगाल, झारखंड, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, छत्तीसगढ़, जम्मू कश्मीर जैसे राज्यों में भी घटिया पाइप सप्लाई के चलते रिजेक्ट किया जा चुका है. 

यह भी पढ़ेंःUP CM पर संजय सिंह का हमला, कहा-दलित बच्‍ची को न्‍याय नहीं दिलाना चाहते योगी

इतने राज्यों के अलावा इंडियन ऑर्मी ने भी इस कंपनी को घटिया पाइप के कारण रिजेक्ट किया है. ऐसे में संजय सिंह ने उत्तर प्रदेश सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा कि आखिरकार यूपी की योगी सरकार ने ऐसी घटिया कंपनी को काम क्यों दे दिया योगी सरकार इस बात का जवाब दे. इस कम्पनी की जांच के लिए झांसी के adm को जिम्मेदारी दी गई है. Adm ने भी अपनी जांच में इस बात बताया कि इस कंपनी की सभी बातें पैरामीटर पर खरी नहीं उतर रहीं हैं. इस सेंट्रल इकोनॉमिक इंटीलेजेन्स ब्यूरो ने भी इस बात को लिख कर दिया कि कंपनी घटिया क़्वालिटी का सामान वितरित करती है. 

यह भी पढ़ेंःसीएम योगी पर संजय सिंह का पलटवार, ब्राम्हणों, दलितों और पिछड़ों को लेकर कही ये बात

संजय सिंह ने हमला जारी रखते हुए आगे कहा कि अधिकारी अनुराग श्रीवास्तव ने इस कंपनी को गलत तरीके से काम किया. बीजेपी के प्रयागराज के विधायक अजय कुमार ने भी महेंद्र सिंह पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं, हरैय्या से बीजेपी के विधायक ने विधानसभा में भ्रष्टाचार की बात कही थी, अयोध्या में भी जल जीवन मिशन के अंतर्गत जिस काम को उत्तर प्रदेश जल निगम 1501 रुपये में कराता है उसे जल जीवन मिशन में 2100 रुपये में कराया जा रहा है. थर्ड पार्टी इन्सेप्शन में चेन्नई में  0.15% काम होता है लेकिन यूपी में 1.33 %पर काम होता है. यूपी में ओवर टेंडरिंग करके 30-35 हज़ार करोड़ का भ्र्ष्टाचार किया गया है. संजय सिंह ने आगे कहा कि आम आदमी पार्टी यूपी के घोटालों पर काम कर रही है. मंदिर में चंदा चोरी, वेंटिलेटर का घोटाला हमने खोला लेकिन सरकार इन सब घोटालों पर पर्दा डाल रही है. हम सरकार को 15 अगस्त तक का समय कार्रवाई का समय देते है. अगर मामले की जांच नही की गई 15 अगस्त के बाद हम सरकार से दो-दो हाथ करेंगे.



संबंधित लेख