इन चार राज्यों ने कहा- वैक्सीन का स्टॉक नहीं, 1 मई से सभी के लिए वैक्सीनेशन शुरू नहीं कर पाएंगे

0
इन चार राज्यों ने कहा- वैक्सीन का स्टॉक नहीं, 1 मई से सभी के लिए वैक्सीनेशन शुरू नहीं कर पाएंगे

नई दिल्लीः देशभर में 1 मई से 18 वर्ष से ज्यादा उम्र लोगों का टीकाकरण शुरू होने जा रहा है. टीकाकरण शुरू होने के पांच दिन पहले रविवार को चार विपक्षी दलों की सरकार वाले राज्यों ने कहा है कि वे 1 मई को टीकाकरण शुरू नहीं कर पाएंगे क्योंकि उनके पास पर्याप्त वैक्सीन नहीं हैं. इन राज्यों में राजस्थान, छत्तीसगढ़, पंजाब और झारखंड शामिल हैं.

कांग्रेस शासित राजस्थान ने कहा कि सीरम कोविशिल्ड वैक्सीन बनाने वाली सीरम इंस्टीट्यूट ने उसे बताया है कि वह 15 मई से पहले वैक्सीन डोज की सप्लाई नहीं कर पाएगी. राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा के अनुसार, “हमें सीरम इंस्टीट्यूट से बात करने के लिए कहा गया था. उनका फीडबैक था कि जो ऑर्डर उन्हें केंद्र सरकार से मिले हैं, उन ऑर्डर की आपूर्ति के लिए उन्हें 15 मई तक का समय चाहिए. इसलिए वे हमें वैक्सीन देने की स्थिति में नहीं हैं. ऐसे में सवाल यह है कि अगर राज्य सीधे वैक्सीन खरीदना चाहते हैं, तो प्रक्रिया क्या है? यह केंद्र सरकार को तय करना चाहिए. हमारे सामने सवाल यह है कि 18-45 आयु वर्ग के राज्य में 3.13 करोड़ लोग हैं, हम उनका टीकाकरण कैसे करेंगे? ” 

वैक्सीन की रेट एक समान रखने की मांग
शर्मा ने कहा कि केंद्र सरकार को सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक को राज्यों को बहुत अधिक मात्रा में  आपूर्ति के लिए कहना चाहिए. शर्मा ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि हम भुगतान करने के लिए तैयार हैं, लेकिन दरें एक समान होनी चाहिए और यह केंद्र सरकार को एड्रेस करना चाहिए. राजस्थान, छत्तीसगढ़ और पंजाब में कांग्रेस की सरकारें हैं और झारखंड में झामुमो के साथ कांग्रेस सरकार में साझेदार है.
 
चारों राज्यों ने टीकाकरण अभियान के लिए तैयार थे लेकिन वैक्सीन नहीं मिली
छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव और पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने भी शर्मा का साथ दिया है. देव ने कहा कि उन्होंने सुना है कि असम ने टीकों के लिए ऑर्डर देने की कोशिश की थी, लेकिन उन्हें बताया गया कि वैक्सीन उन्हें एक महीने के बाद मिलेंगे. सभी चार स्वास्थ्य मंत्रियों ने कहा कि वे एक मई से टीकाकरण के अगले फेज के लिए तैयार थे, लेकिन निर्माताओं ने डोज देने में असमर्थता व्यक्त की.  

पंजाब ने राज्यों को बदनाम करने की कोशिश का लगाया आरोप
पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धू ने कहा “वैक्सीन उपलब्ध नहीं होने पर टीकाकरण का कोई रास्ता नहीं है. स्थिति बहुत स्पष्ट है. केंद्र कह रहा है कि टीकाकरण सभी के लिए ओपन कर दिया गया है लेकिन वैक्सीन उपलब्ध नहीं हैं. फिर पूरे देश को गुमराह किया जा रहा है. एक तरह से राज्यों पर बोझ डालने और उन्हें बदनाम करने की कोशिश की जा रही है, यह कहते हुए कि  हमने वैक्सीनेशन ओपन कर दिया है. ” उन्होंने कहा कि “हम सभी को एक ही उत्तर दिया जा रहा है कि 15 मई तक बुकिंग है,उसके बाद सप्लाई शुरू होगी,” 
 
झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि “हम टीकाकरण करना चाहते हैं, लेकिन क्या हम अपने घरों में टीके बनाएंगे?”. ऐसे में इन चारों राज्यों में 18 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोगों का टीकाकरण 15 मई से पहले शुरू होने की फिलहाल उम्मीद नहीं है.

यह भी पढ़ें

US नेशनल सिक्योरिटी एडवाइजर ने NSA अजीत डोभाल से की बात, जानें वैक्सीन निर्माण के लिए कच्चा माल भेजने पर क्या कहा

महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 66191 नए मरीजों की पुष्टि, 832 लोगों की मौत