इलाहाबाद विश्वविद्यालय के हॉस्टलों को खाली करने का आदेश, बनाए जाएंगे कोविड वार्ड

0
इलाहाबाद विश्वविद्यालय के हॉस्टलों को खाली करने का आदेश, बनाए जाएंगे कोविड वार्ड

योगी सरकार ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय के हास्टलों को कोरोना वार्ड में तब्दील करने का बड़ा फैसला लिया है. इस फैसले के तहत हास्टलों को खाली कराने का आदेश भी जारी हो चुका है. हॉस्टलों में रह रहे छात्रों को विश्व विद्यालय प्रशासन ने तत्काल घर लौटने के लिए कहा है.

Written By : मानवेंद्र सिंह | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 17 Apr 2021, 10:30:44 AM

Allahabad University (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • हास्टलों में रह रहे छात्रों को घर जाने को कहा गया
  • विश्वविद्यालय के असिस्टेंट रजिस्ट्रार ने डीएसडब्ल्यू को लिखा पत्र
  • विश्वविद्यालय के हास्टलों को कोरोना वार्ड में तब्दील किया जाएगा

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण बेकाबू है. महामारी के कारण स्थिति भयानक है. संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए यूपी में हर रविवार को कंपलीट लॉकडाउन लगाया गया है. इस दौरान इस दौरान आपातकालीन सेवाओं को छोड़कर सभी बाजार और दफ्तर बंद रहेंगे. केवल स्वच्छता संबंधी और आपातकालीन सेवाएं ही संचालित होंगी. कोरोना वायरस की दूसरी लहर में अस्पतालों में बेड्स की कमी सामने आने लगी है, जिसके बाद योगी सरकार ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय के हास्टलों को कोरोना वार्ड में तब्दील करने का बड़ा फैसला लिया है. इस फैसले के तहत हास्टलों को खाली कराने का आदेश भी जारी हो चुका है.

ये भी पढ़ें- बिहार में भी लॉकडाउन के आसार, राज्यपाल ने बुलाई सर्वदलीय बैठक

हॉस्टलों में रह रहे छात्रों को विश्व विद्यालय प्रशासन ने तत्काल घर लौटने के लिए कहा है. विश्वविद्यालय के असिस्टेंट रजिस्ट्रार देवेश कुमार गोस्वामी की ओर से डीएसडब्ल्यू प्रो. केपी सिंह को पत्र लिखकर कहा गया है कि प्रदेश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामलों को देखते हुए कुलपति ने निर्देश दिए हैं कि इविवि के हॉस्टलों को तत्काल खाली करा लिया जाए. यह निर्देश छात्र हित को देखते हुए दिया गया है. इसके साथ ही हॉस्टलों को कोरोना वार्ड में परिवर्तित किया जाना है. ऐसे में सभी छात्र हॉस्टलों को छोड़कर अपने घर लौट जाएं. अस्पतालों में कोविड मरीजों को भर्ती करने के लिए जगह नहीं बची है.

अब हॉस्टलों को कोविड वार्ड के रूप में बदला जाएगा. कुलपति के निर्देश पर डीएसडब्ल्यू को आवश्यक कार्रवाई करने के लिए कहा गया है और इस पर आख्या भी मांगी गई है.  पत्र में कहा गया है कि उत्तर प्रदेश में हर रोज कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है. इस लिहाज से प्रदेश में डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट लागू किया गया है. यह एक्ट आपदा से निपटने के लिए लगाया गया है. आपदा की इस घड़ी में सभी छात्र-छात्राओं से तत्काल हॉस्टल खाली करके घर जाने की अपील की गई है क्योंकि अस्पताल भी काफी मुसीबत के दौर से गुजर रहे हैं. वहां जगह का अभाव है.

ये भी पढ़ें- LIVE: कुंभ में कोरोना पर पीएम मोदी ने तोड़ी चुप्पी, स्वामी अवधेशानंद से की ये अपील

हॉस्टलों को कोविड वार्ड में बदला जाएगा. इससे लोगों को इलाज मिल सके. कोरोना की वजह से सारी कक्षाओं का संचालन भी ऑनलाइन मोड में किया जाएगा. ऐसे में सुरक्षा के लिहाज से भी सभी छात्रों से घर पर सुरक्षित रहने के लिए हॉस्टलों को खाली करने की अपील की गई है. इसके अलावा सरकार की ओर से कल यानी रविवार को पूरे राज्य में संपूर्ण लॉकडाउन लगाने का आदेश जारी किया गया है. इस दौरान सिर्फ आपातकालीन सेवाओं को ही छूट दी गई है.



संबंधित लेख

First Published : 17 Apr 2021, 10:18:13 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.