इस बार काशी में राजनीतिक सावन, हर पार्टी के प्रमुख करेंगे दर्शन

0

इस बार वाराणसी में सावन के महीने में राजनीतिक रंग चढ़ने वाला है. उत्तर प्रदेश में ज्यों-ज्यों विधानसभा चुनाव नजदीक आते जा रहा है, प्रदेश में चुनावी सरगर्मी बढ़ती जा रही है.

News Nation Bureau | Edited By : Avinash Prabhakar | Updated on: 20 Jul 2021, 05:53:19 PM

CM Yogi and Akhilesh Yadav (Photo Credit: News Nation)

लखनऊ:

इस बार वाराणसी में सावन के महीने में राजनीतिक रंग चढ़ने वाला है. उत्तर प्रदेश में ज्यों-ज्यों विधानसभा चुनाव नजदीक आते जा रहा है, प्रदेश में चुनावी सरगर्मी बढ़ती जा रही है. ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काशी दौरे के बाद उत्तर प्रदेश में सियासी हलचलें तेज हो गईं हैं. बीजेपी से नाराज हिंदू वोटर्स को खुश करने के लिए समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने भी बाबा विश्वनाथ की चौखट पर जाने का फैसला लिया है. जल्द ही कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव काशी का दौरा करेंगे और बाबा के दर्शन के साथ यूपी को साधने की कवायत तेज करेंगे.

वैसे सत्ताधारी बीजेपी को कहना है कि सावन में भी बाबा का आशीर्वाद और जनता का स्नेह उन्ही के साथ रहेगा. बीजेपी का कहना है कि बाबा भोलेनाथ का आशीर्वाद उन्हीं के साथ है. इस बार प्रदेश में चुनाव लड़ने वाले सभी दल चाहे समाजवादी पार्टी हो या फिर कॉंग्रेस और आम आदमी पार्टी सभी सावन में बाबा के दरबार मे हाजरी लगाएंगे. हालांकि अभी तीनों नेताओं के आने की तारीख तय नहीं हुई है. लेकिन ये दावा किया जा रहा है कि इस बार सावन के महीने में अलग-अलग राजनीतिक दलों के ये नेता हिंदू वोटर्स को खुश करने के लिए शिव आराधना के लिए काशी पहुंचेंगे.

सभी विपक्षी पार्टी बाबा विश्वनाथ के मंदिर से ही बीजेपी और मुख्यमंत्री को घेरने का काम करेंगी. वाराणसी के कॉंग्रेस के महानगर अध्यक्ष कहते है की प्रियंका गांधी जब भी वाराणसी आती है तो बाबा का दर्शन करती है, ऐसे में इस बार सावन के महीने में बाबा विश्वनाथ का दर्शन कर पूर्वान्चल से चुनावी अभियान का आगाज करेंगी और 2022 हमारा होगा. इसके अलावा दर्शन-पूजन करने के साथ ही प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के गांवों में रहने वाले कांग्रेस के पुराने नेताओं से मुलाकात करेंगी.

दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी कहती है की यदुवंशियों का संगठन काशी विश्वनाथ दल वर्ष 1952 से सावन के पहले सोमवार को श्री काशी विश्वनाथ का जलाभिषेक करता चला आ रहा है. बीते दिनों दल के जंत्रलेश्वर यादव लखनऊ जाकर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को यदुवंशियों के जत्थे में शामिल होकर श्री काशी विश्वनाथ का जलाभिषेक करने का न्यौता दिया था. इसलिए इस बार सावन में अखिलेश जी बाबा के दरबार में मत्था टेकने आ रहे है हालांकि इसे विरोधी राजनीति से जोड़कर देख रही है पर अखिलेश जी भक्ति भाव से आ रहे है ये अलग बात है की इस दौरान कार्यकर्तों से मुलाकात होगी और यूपी का विजय रथ भी शुरू होगा.

  



संबंधित लेख

First Published : 20 Jul 2021, 05:30:33 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.