एक जून से तेज होगा यूपी में टीकाकरण, सीएम योगी ने जारी किए नए निर्देश

0

highlights

  • एक जून से यूपी में तेजी से होगा वैक्सीनेशन
  • अब तक महज 23 जिलों को मिल रहा था लाभ
  • अब बाकी के 52 जिलों में भी होगा वैक्सीनेशन
  • वैक्सीनेशन के लिए योगी सरकार ने जारी किए निर्देश

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश प्रदेश में एक जून से 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों को कोरोना वैक्सीन की सुविधा सभी जिलों में मिलेगी. अभी तक 23 जिलों में ही यह सुविधा प्रदान की जा रही थी. अब इसको सभी जिलों तक बढ़ाया गया है. अभी तक इसके लाभ से वंचित रहे 52 जिलों के लोगों को भी लाभ मिलेगा. एक जून से प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण शुरू हो जाएगा. सीएम योगी ने बताया कि एक जून से उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में तेजी से लोगों का वैक्सीनेशन किया जाएगा. योगी सरकार ने इसके लिए गाइडलाइंस भी जारी की हैं. 12 साल तक के बच्चों के अभिभावकों के टीकाकरण के लिये अलग बूथ बनेगा तो वहीं पर मीडिया और न्यायिक क्षेत्र से जुड़े लोगों का तेजी के साथ टीकाकरण करने के निर्देश दिए हैं.

शनिवार को इसके निर्देश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिए. टीम-9 की बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिन जिलों में संक्रमण अधिक है, उनके ग्रामीण क्षेत्रों में भी वैक्सीनेशन कराया जाए. अभी तक लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, गोरखपुर, मेरठ, प्रयागराज, बरेली, अलीगढ़, आगरा, गाजियाबाद, झांसी, मुरादाबाद, सहारनपुर, फिरोजाबाद, मथुरा अयोध्या, शहजहांपुर, नोएडा, मिर्जापुर, बांदा, गोंडा, आजमगढ़ और बस्ती में 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण किया जा रहा था.

यह भी पढ़ेंःसीएम योगी ने कोरोना मैनेजमेंट के लिए टीम-9 को दिया ये निर्देश

प्रदेश सरकार ने चरणवार 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों के लिए कोरोना वैक्सीन का इंतजाम किया. पहले यह अभियान उन सात जिलों से शुरू किया गया, जहां पर सर्वाधिक एक्टिव केस थे. इसके बाद इसको बढ़ाकर 18 जिलों यानी मंडल मुख्यालय तक लाया गया. इसके बाद पांच और नगर निगम को जोड़कर 23 तक पहुंचाया गया. जिलों में मीडिया तथा न्यायिक सेवा से जुड़े लोगों के लिए अलग से कैम्प की भी व्यवस्था की जा रही है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि एक जून से पूरे प्रदेश में 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों का टीकाकारण किया जाएगा. इसको बृहद अभियान के रूप में लिया जा रहा है. हमारा प्रयास है कि प्रदेश का कोई भी नागरिक टीकाकरण से वंचित न रहे. सभी नागरिकों के लिए टीकाकरण की सुविधा की व्यवस्था की जा रही है.

यह भी पढ़ेंःपूर्वांचल दौरे पर पहुंचे CM योगी, कहा- कोई भी कोविड टेस्ट से परहेज न करे

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि कोविड-19 की रोकथाम के लिए ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट की नीति के साथ सभी जिलों में जारी कोशिशों के सकारात्मक परिणाम मिल रहे हैं. 21 दिनों में एक्टिव केस में 69.6 फीसदी की कमी आई है, जबकि वर्तमान में रिकवरी दर 93.2 फीसदी हो गई है. मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में ऑक्सीजन प्लांट लगाने का काम अभियान के रूप में चलाया जा रहा है. भारत सरकार ने उत्तर प्रदेश के लिए 286 नए ऑक्सीजन प्लांट की स्वीकृति प्रदान की है. उद्योग जगत से सीएसआर के माध्यम से और राज्य सरकार एसडीआरएफ फंड से भी ऑक्सीजन प्लांट लगा रही है.

यह भी पढ़ेंःCM योगी के ग्राउंड जीरो पर उतरने का दिख रहा असर, संक्रमण में आ रही गिरावट

पिछले कुछ दिनों में 43 नए प्लांट शुरू हो गए हैं. उन्होंने मुख्य सचिव के स्तर पर ऑक्सीजन प्लांटों की प्रगति की समीक्षा के निर्देश भी दिए. कोविड की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए सैफई आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय में 100 बेड का पीकू वार्ड, 100 बेड का पोस्ट कोविड वार्ड और 100 बेड का डेडिकेटेड कोविड वार्ड तैयार करने के निर्देश मुख्यमंत्री ने दिए. यहां 200 बेड का कोविड अस्पताल पहले से संचालित है.



संबंधित लेख