काशी की महिलाओं के लिए योगी सरकार का ‘सेफ सिटी प्रोजेक्ट’, लगेंगे 160 कैमरे

0

महिलाओं को सेफ सिटी प्रोजेक्ट के तहत शहर के प्रमुख चिन्हित जगहों पर 160 कैमरे लगेंगे. हर घाट पर दो कैमरों की नजर रहेगी. सेफ सिटी प्रोजेक्ट के तहत स्कूल और भीड़ वाली जगहों पर 60 पिंक बूथ स्थापित होगा.

योगी आदित्यनाथ (Photo Credit: एएनआई ट्विटर)

वाराणसी:

महिलाओं की सुरक्षा में कोई चूक न हो इसलिए योगी सरकार काशी के लिए लेकर आई है सेफ सिटी प्रोजेक्ट सरकार ने क़रीब 50 करोड़ की लागत से सेफ सिटी प्रोजेक्ट तैयार किया है. शहर में कही भी डार्क जोन नहीं रहेगा, और पिंक वैन, पिंक स्टेशन और पिंक स्कूटर महिलाओं को करेगी सुरक्षित. महिलाओं को सेफ सिटी प्रोजेक्ट के तहत शहर के प्रमुख चिन्हित जगहों पर 160 कैमरे लगेंगे. हर घाट पर दो कैमरों की नजर रहेगी. सेफ सिटी प्रोजेक्ट के तहत स्कूल और भीड़ वाली जगहों पर 60 पिंक बूथ स्थापित होगा. हर एक बूथ पर दो महिला कर्मचारी की तैनाती होगी. बूथ में वर्क स्टेशन के साथ ही रहने की भी व्यवस्था रहेगी.

सेफ सिटी प्रोजेक्ट के अंतर्गत वाराणसी के कई बूथ में सीसीटीवी कैमरे भी लगेंगे . शहर में केवल महिलाओं के लिए 50 अत्याधुनिक पिंक टॉयलेट का निर्माण भी होगा. ये ऐसी जग़ह बनेंगे  जहां महिलाओं का आवागमन अधिक होता है. सेफ सिटी प्रोजेक्ट के अन्तर्गत  शहर में पिंक वैन का भी प्राविधान रखा गया है. महिला पुलिस कर्मचारियों के साथ जीपीएस सिस्टम लगी 15 पिंक वैन तैनात रहेंगी.

योगी सरकार की ये टीम वाराणसी में किसी भी समय महिलाओं के किसी भी मुसीबत या समस्या में एक काल पर मदद के लिए पहुंचेगी. गलियों के शहर वाराणसी में सुगमता से सभी जग़ह मदद  पहुंचाने  के लिए पिंक स्कूटर रहेगी . महिला पुलिस की तैनाती के साथ , हर थाने पर दो पिंक स्कूटर रहेगी. सभी सिटी ट्रांसपोर्ट इलेक्ट्रिक बसों  में पैनिक बटन लगे रहेंगे . एक बस में चार  पैनिक बटन  रहेगा जिसे महिलाएं किसी भी मुसीबत में दबा कर मदद की गुहार लगा सकती है.

इसके साथ ही गंगा में वाराणसी विकास  प्राधिकरण ,नगर निगम ,पुलिस की मदद से पिंक बोट पेट्रोलिंग करेगी. इस बोट में फर्स्ट ऐड,लाइफ जैकेट जैसी जीवन रक्षक उपकरण मौजूद रहेंगे. पिंक बोट में महिला पुलिस रहेगी व इन बोटो में जीपीएस भी लगा होगा. वाराणसी में आने वाली महिलाओं के लिए रेलवे स्टेशन व रोडवेज के पास स्मार्ट वीमेन शेल्टर होम होगा. कई बार ऐसा देखा गया है की गरीब महिलाएं काशी में आ जाती है लेकिन उनके पास पैसे नहीं होते है. ऐसी महिलाओं के लिए ये शेल्टर होम काफी मददगार साबित होगा.  इसकी क्षमता करीब 20 लोगों के रुकने की होगी. इस शेल्टर होम में किचन ,टॉयलेट टेलीविज़न समेत कई अत्याधुनिक सुविधाएं होंगी. 



संबंधित लेख

First Published : 17 Jun 2021, 03:44:54 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.