केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने मां कृष्णा पटेल को दिया ये प्रस्ताव 

0

अपना दल के इस प्रस्ताव पर बीजेपी नेतृत्व के साथ भी मीटिंग हुई थी, जिसमें विलय की स्थिति में कृष्णा पटेल को मंत्री बनाने के लिए मंजूरी दे दी गई है. बीजेपी मान रही है कि यूपी के बेहद प्रभावी कुर्मी बिरादरी पकड़ मजबूत हो सकती है.

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 11 Sep 2021, 09:54:42 AM

अनुप्रिया पटेल (Photo Credit: ANI)

highlights

  • 2015 से चला आ रहा परिवार में विवाद
  • बहन पल्लवी पटेल से नाराज में अनुप्रिया
  • यूपी चुनाव में हो सकता है बड़ा फायदा

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (UP Vidhansabha Chunav 2022) से पहले दो हिस्सों में बंटे अपना दल (Apna Dal) को एक करने की कोशिश शुरू हो गई है. अपना दल (एस) की राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल ने परिवार को एकजुट करने के लिए अपनी मां और अपना दल (कमेरावादी) की अध्यक्ष कृष्णा पटेल को कई प्रस्ताव दिए हैं. इन प्रस्तावों में उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री पद, पति आशीष पटेल की जगह विधान परिषद की सदस्यता, 2022 में विधानसभा चुनाव जिताने की जिम्मेदारी तथा समर्थकों को भी दो-तीन सीटें दिया जाना प्रमुख है. कृष्णा पटेल यदि बेटी अनुप्रिया के इन प्रस्तावों को मानती हैं तो विधानसभा चुनाव में पूरा परिवार एक मंच पर होगा.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अनुप्रिया पटेल की तरफ से ये प्रस्ताव उनके करीबी रिश्तेदारों व बहन ने मां कृष्णा पटेल तक पहुंचाया है. इस प्रस्ताव के बाद परिवार की एकता पर मंथन भी तेज हो गया है. सब कुछ ठीक रहा तो 2015 से परिवार के बीच खींची विवाद की रेखा मिट जाएगी. दरअसल अनुप्रिया पटेल अपनी बहन से नाराज हैं, क्योंकि 2015 में अपना दल में विवाद के बाद पल्लवी पटेल ने अनुप्रिया पटेल के खिलाफ ग़बन का मुकदमा दर्ज करवाया था, बाद में मुकदमा खारिज हो गया था. पल्लवी पर पैतृक संपत्ति अपने नाम कराने का भी आरोप है. मां कृष्णा पटेल के अनुप्रिया पटेल के साथ आने से कुर्मी वोटों का बिखराव रुकेगा. 

यह भी पढ़ेंः खत्म होगा किसान आंदोलन, करनाल में चौथे दौर की वार्ता आज

फिर से एक होगा अपना दल?
अगर कृष्णा पटेल ने अनुप्रिया पटेल के इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया तो अपना दल फिर से एक हो जाएगा. यूपी के आगामी चुनाव से पहले ऐसा होना बड़ी खबर हो सकती है. अनुप्रिया पटेल ने अपनी बहन पल्लवी पटेल और उनके पति को राजनीति से दूर रखने की शर्त पर मां कृष्णा पटेल के सामने मंत्रीपद के साथ पार्टी का अध्यक्ष बनने का प्रस्ताव रखा है. इतना ही नहीं, अनुप्रिया ने मां के सामने अपने एमएससी पति आशीष पटेल का इस्तीफा करा कर उनकी जगह मां को विधानसभा परिषद का पद देने की भी बात कही है.   
 
मंत्री या MLC बनने का प्रस्ताव स्वीकार नहीं – कृष्णा पटेल
अनुप्रिया पटेल द्वारा दिए गए प्रस्तावों के बाबत पूछे जाने पर कृष्णा पटेल ने कहा कि उन्हें इस तरह के कोई प्रस्ताव अभी नहीं मिले हैं. ऐसे प्रस्ताव मिलेंगे तो भी वह उसे स्वीकार नहीं करेंगी. मंत्री पद या एमएलसी का प्रस्ताव भी उन्हें स्वीकार नहीं है. चुनाव से पूर्व परिवार की एका के बाबत पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि यह अलग विषय है.



संबंधित लेख

First Published : 11 Sep 2021, 09:54:42 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.