गाजियाबाद केस में पीड़ित अब्दुल समद ने बदला अपना बयान, अब लगाए ये आरोप

0

गाजियाबाद के लोनी इलाके में बुजुर्ग अब्दुल समद सैफी की पिटाई का मामला पूरा राजनीतिक रंग ले चुका है. अब्दुल समद पर हमले के बाद सियासी बयानबाजी तेज है तो नए नए वीडियो भी लगातार सामने आ रहे हैं.

गाजियाबाद केस में पीड़ित अब्दुल समद ने बदला अपना बयान, अब लगाए ये आरोप (Photo Credit: Video (Greb))

highlights

  • अपने बयान से फिर पलटे अब्दुल समद
  • कहा- लगवाए गए जय श्रीराम के नारे
  • समद ने ताबीज की बात को झुठलाया 

गाजियाबाद:

गाजियाबाद के लोनी इलाके में बुजुर्ग अब्दुल समद सैफी की पिटाई का मामला पूरा राजनीतिक रंग ले चुका है. अब्दुल समद पर हमले के बाद सियासी बयानबाजी तेज है तो नए नए वीडियो भी लगातार सामने आ रहे हैं. इस बीच पीड़ित अब्दुल समद अपने बयान से फिर पलटे गए हैं. अब्दुल समद का एक और बयान सामने आया है, जिसमें अब उसने आरोप लगाया है कि पीटने वालों ने उससे जय श्रीराम के नारे लगवाए थे. उसकी पिटाई की गई और जान से मारने की धमकी भी दी गई. अब्दुल समद अब पेशाब पीने तक की बात भी कह रहे हैं.

यह भी पढ़ें : गाजियाबाद बुजुर्ग वीडियो मामले में स्वरा भास्कर और ट्विटर के MD के खिलाफ शिकायत दर्ज 

अब्दुल समद ने बुधवार की रात बुलंदशहर के अनूपनगर में अपने घर पर पत्रकारों से बातचीत में कहा था कि आरोपियों ने उससे जय श्रीराम के नारे लगाने को कहा था. मैंने पानी मांगा तो आरोपियों ने पेशाब पीने को कहा था. आरोपी मार लगाते रहे. इस दौरान ताबीज की बात से भी अब्दुल समद ने साफ इनकार कर दिया है. अब्दुल ने कहा कि ताबीज की बातें बेबुनियादी हैं. ऐसे हम पर आरोप लगाए जा रहे हैं, जिसके जरिए मामले से भटकाया जा रहा है. आपको यह भी बता दें कि जब पत्रकार अब्दुल समद से बात कर रहे थे, इस दौरान वह कुछ ज्यादा बोलने की स्थिति में नहीं थे, मगर वहां मौजूद कुछ लोग तरह तरह की बातों के लिए दबाव बनाते भी नजर आए.

गौरतलब है कि इससे पहले अब्दुल समद ने कहा था कि पुलिस वाले उसे बुलाकर ले गए थे. मेरे बयान हुए, जिसके बाद पुलिस वालों ने मेरी काफी मदद की. जिन लोगों ने उन पर हमला किया, उनमें से पुलिस ने गिरफ्तार भी किए हैं. हालांकि अब अब्दुल समद अपने बयान से पलट रहे हैं. उनका ताजा बयान काफी अलग है. वो भी तब जब इस पूरे मामले पर राजनीतिक हंगामा मचा है. मामले में पुलिस सांप्रदायिक पहलू से साफ इनकार कर रही है, लेकिन विपक्ष इसे लेकर हमलावर है तो सत्तारूढ़ दल विपक्ष पर मामले को सांप्रदायिक रंग देने का आरोप लगा रहा है.

यह भी पढ़ें : कांग्रेस टूलकिट मामले में बड़ा खुलासा, 31 मई को ट्विटर इंडिया हेड से दिल्ली पुलिस ने की पूछताछ

हालांकि इस बीच उधर, अब्दुल समद का पिटाई से पहले का भी एक वीडियो सामने आया है, जिसको लेकर भी कई सवाल खड़े रहे हैं. पिटाई से पहले के वीडियो में अब्दुल समद ने ताबीज की बात कही थी. वीडियो में अब्दुल समद ने कहा था, ‘उससे इंतजार ने गलत काम करने के लिए कहा था, इनसे मेरा काम है. इंतजार ने कह कर भेजा कि मेरे वश में कर दो…’ मार पिटाई से पहले अब्दुल समद ने सच्चाई बताई कि इंतजार नाम के शख्स ने प्रवेश गुर्जर के घर पर गलत काम करने के लिए उससे कहा था. अब्दुल समद के पास से तमाम तरह की उर्दू में लिखें छोटी पर्चियां और दवाइयां भी वीडियो में बरामद होती दिखीं.

इस वीडियो के बाद यह सामने आया कि अब्दुल समद ताबीज का कारोबार करता था. बताया जाता है कि इसके बाद ही आरोपियों ने अब्दुल समद की पिटाई की थी. पिटाई करने वालों में हिंदू और मुस्लिम, दोनों धर्म के लोग बताए जा रहे हैं. हालांकि पिटाई के मामले में पुलिस अब तक 3 आरोपियों को गिरफ्तार भी कर चुकी है. 



संबंधित लेख

First Published : 17 Jun 2021, 10:57:19 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.