गैस सिलेंडर की कीमत बढ़ी, कांग्रेस ने कहा- केंद्र सरकार को महंगाई से बेहाल जनता की फिक्र नहीं

0

Gas Cylinder Price Hike: देश में एलपीजी सिलेंडर के दामों में एक बार फिर से 25 रुपये की बढ़ोतरी हुई है और इसी को लेकर कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर एक बार फिर से निशाना साधा है. कांग्रेस के मंच से कांग्रेस की महिला प्रवक्ताओं ने महंगाई के मुद्दे पर केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि एक तरफ जनता महंगाई से बेहाल है तो दूसरी तरफ केंद्र सरकार बेफिक्र है. केंद्र सरकार को जनता की परेशानियों से कोई लेना देना नहीं और इसी वजह से जरूरी चीजों की कीमतें लगातार बढ़ती जा रही है लेकिन केंद्र सरकार उस ओर ध्यान नहीं दे रही.

एलपीजी सिलेंडर के दामों की बढ़ोतरी पर सवाल उठाते हुए कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेट ने कहा कि केंद्र सरकार के ऊपर जनता की परेशानी से कोई फर्क नहीं पड़ रहा. एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में 25 रुपये की बढ़ोतरी के बाद अब देश के कई हिस्सों में कीमत 1000 रुपये प्रति सिलेंडर के पार पहुंच चुकी है और यह हाल तब है जब अंतर्राष्ट्रीय बाजार के हिसाब से अगर कीमत देखी जाए तो करीब 600 रुपये ही होनी चाहिए थी यानी कि साफ तौर पर केंद्र सरकार जनता की जेब से टैक्स के नाम पर मनचाहे ढंग से पैसा वसूल रही है और जनता बेहाल है.

तेल की कीमतों में आग

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि यह हाल सिर्फ एलपीजी सिलेंडर का ही नहीं बल्कि उसके साथ ही तेल की कीमतों में भी आग लगी हुई है. केंद्र सरकार उस और ध्यान तक नहीं देना चाहती. कांग्रेस के मंच से केंद्र सरकार की नीतियों पर सवाल उठाते हुए कहा गया कि जब मनमोहन सरकार सत्ता में थी उस दौरान अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत करीब $120 प्रति बैरल तक पहुंच गई थी लेकिन तब भी भारतीय बाजार में पेट्रोल की कीमत 70 रुपये प्रति लीटर के आसपास ही पहुंची थी तब विपक्षी पार्टी बीजेपी ने इसको लेकर जमकर हंगामा किया था लेकिन आज जब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत करीब $70 प्रति बैरल के आसपास है तब देश में पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर से ज्यादा की कीमत पर बिक रहा है.

कांग्रेस की तरफ से कहा गया कि जब मनमोहन सरकार सत्ता में थी तो उस दौरान एक लाख करोड़ से ज्यादा ऑयल बॉन्ड के जरिए पैसा जुटा कर सब्सिडी दी गई जिससे कि जनता पर बोझ ना पड़े. लेकिन केंद्र कि मोदी सरकार पिछले 7 सालों के दौरान पेट्रोल डीजल की कीमतों पर टैक्स वसूल कर 23 लाख करोड़ से ज्यादा की कमाई कर चुकी है उसके बावजूद जनता को राहत देने के लिए कोई कदम उठाने को तैयार नहीं.

कांग्रेस की यह प्रेस कॉन्फ्रेंस अपने आप में कुछ अलग भी थी क्योंकि इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कांग्रेस की महिला प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेट, अलका लांबा, अमृता धवन और राधिका खेड़ा मौजूद थी. तो उनके साथ ही में एलपीजी सिलेंडर गैस का चूल्हा, कच्चा चूल्हा, कढ़ कढ़ाई भी रखी हुई थी. जिसके जरिए ये दिखाने की कोशिश की गई कि महंगाई की वजह से एक आम आदमी किस तरह से बेहाल है लेकिन केंद्र सरकार को उसकी फिक्र ही नहीं.

यह भी पढ़ें:
पेट्रोल पंप का नाम बदलकर वसूली केंद्र करे सरकार, बीजेपी है तो महंगाई है- श्रीनिवास
जुलाई में थोक महंगाई दर घटी, खाद्य वस्तुओं के दाम में 11.16 प्रतिशत की गिरावट