घूस लेते रंगे हाथ पकड़ा गया BEO, शिक्षकों को ऐसे करता था परेशान

0

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जनपद से एक बड़ी खबर है, जहां घूस लेते हुए खंड शिक्षा अधिकारी सदर रमा शंकर को सतर्कता विभाग प्रयागराज ने रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है.

घूस लेते रंगे हाथ पकड़ा गया BEO (Photo Credit: न्यूज नेशन)

प्रयागराज:

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के प्रतापगढ़ (Pratapgarh) जनपद से एक बड़ी खबर है, जहां घूस लेते हुए खंड शिक्षा अधिकारी सदर रमा शंकर (Rama Shankar) को सतर्कता विभाग प्रयागराज (Vigilance Department) ने रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है. खंड शिक्षा अधिकारी (block education officer) पीड़ित प्रभाकर प्रताप सिंह का बोनस रोककर और चयन वेतनमान की पत्रावली रोक कर पैसों की डिमांड करते थे. ये पूरा मामला नगर कोतवाली क्षेत्र का है, जहां पर रंगे हाथों घूस लेते हुए गिरफ्तार किए गए खंड शिक्षा अधिकारी जो सहायक अध्यापक से करते थे.

खंड शिक्षा अधिकारी ने पैसों की डिमांड और आज पैसा लेने के लिए अपने आवास शुकुलपुर बुलाया था. पीड़ित प्रभाकर प्रताप सिंह सम्मेलियान विद्यालय बडाका पुरवा सदर ब्लाक में सहायक अध्यापक के पद पर कार्यरत हैं. खंड शिक्षा अधिकारी सदर रमा शंकर ने एक बोनस और चयन वेतनमान की पत्रावली पर रोक लगा दी थी. पीड़ित बार-बार कार्यालय के चक्कर लगाता था, लेकिन पैसों के लिए उसकी सुनवाई नहीं हो रही थी. पीड़ित की समस्या के समाधान के लिए उससे 10 हजार रुपये की मांग की गई.

पीड़ित प्रभाकर सिंह ने की सतर्कता विभाग में शिकायत

रोज रोज कार्यालय के चक्कर लगा कर थक चुके पीड़ित से जब पैसों की डिमांड की गई तो उसने इस घूसखोरी को बंद कराने का मन बना लिया, क्योंकि इस घूसखोरी से बहुत से अध्यापक परेशान थे. उन्होंने इसकी शिकायत सतर्कता विभाग प्रयागराज में की. 

टीम के 10 सदस्य शुक्रवार सुबह जिलाधिकारी कार्यालय में प्रभाकर से मिले और दो राजपत्रित अधिकारी को गवाह के रूप में लिया और घूस की रकम पर गुप्त रंग लगाया और अभिलेखी प्रकिया पूरी की. पहले से तैनात सतर्कता विभाग के अधिकारियों ने खंड शिक्षा अधिकारी रमा शंकर के आवास पर जब पीड़ित प्रभाकर प्रताप सिंह ने उनको घूस की रकम 10 हजार रुपये दी तो उनको रंगे हाथ धर दबोच लिया.



संबंधित लेख

First Published : 03 Sep 2021, 10:40:52 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.