…जब पिता कल्याण सिंह से लिपटकर फफक-फफक कर रोने लगे बेटे राजवीर!

0

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री, राजस्थान के राज्यपाल और भाजपा के फायर ब्रांड नेता रहे कल्याण सिंह का शनिवार को 89 साल की उम्र में निधन हो गया

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 22 Aug 2021, 06:03:29 PM

Rajveer singh (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री, राजस्थान के राज्यपाल और भाजपा के फायर ब्रांड नेता रहे कल्याण सिंह का शनिवार को 89 साल की उम्र में निधन हो गया. वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे, जिसके चलते उनको लखनऊ के पीजीआई में भर्ती कराया गया था. राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ समेत सभी बड़े नेता उनके अंतिम दर्शन करने पहुंचे और भावभीनी श्रद्धांजलि दी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल्याण के बेटे राजवीर सिंह उर्फ राजा भैया से बात कर अपनी संवेदना व्यक्त की. इस बीच कल्याण सिंह के बेटे राजवीर अपने पिता के पार्थिव शरीर से लिपट कर फफक-फफक कर रोने लगे. उन्होंने कहा कि बाबूजी का जन्म राम मंदिर के लिए ही हुआ था. आज बाबू जी भगवान राम के श्रीचरणों में चले गए है. राजवीर ने कहा कि मैं और मेरा परिवार अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए प्रतिबद्ध है. हम बाबूजी के सपने को पूरा करने में अपना धर्म निभाएंगे.

यह भी पढ़ें : अफगानिस्तान से दिल्ली लौटे भारतीयों ने बयां किया वहां का हाल, जानें कैसा है मंजर?

राजा भैया उत्तर प्रदेश के एटा से भाजपा के सांसद

आपको बता दें कि कल्याण सिंह के बेटे राजवीर सिंह उर्फ राजा भैया उत्तर प्रदेश के एटा से भाजपा के सांसद हैं. राजवीर भी पिता के ही नक्शेकदम पर चले और भाजपा से अपना राजनीतिक करियर शुरू किया. राजवीर ने अपने पिता की राजनीतिक विरासत को खूब आगे बढ़ाया और भाजपा में विभिन्न ​जिम्मेदारियां संभाली. मौजूदा समय में राजवीर यूपी के ही एटा से सांसद हैं. गांव, समाज और अपने समर्थकों में राजीतर राजू भैया के नाम से मशहूर हैं. वहीं, राजवीर सिंह को भी चार बच्चे हैं, जिसमे दो बेटे और दो बेटियां हैं. राजवीर सिंह के बड़े बेटे ने भी अपने दादा की राजनीतिक विरासत को ही आगे बढ़ाया और यूपी की योगी सरकार में मंत्री बने. आपको बता दें उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में एक लोधी परिवार में जन्मे कल्याण सिंह के पिता का नाम तेजपाल सिंह लोधी और माता सीता देवी थीं.कल्याण सिंह का विवाह 1952 में रामवती देवी नाम की महीला से हुआ. कल्याण सिंह और रामवती से घर में दो बच्चे हुए. बेटा राजवीर और बेटी प्रभा. 

यह भी पढ़ें : कल्याण सिंह के नाम PM मोदी का अंतिम संदेश, Twitter पर लिखी यह बात

‘देश ने एक सार्मथ्यवान नेता खो दिया’

पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा कि देश ने एक सार्मथ्यवान नेता खो दिया है. उन्होंने लिखा कि कल्याण सिंह ने अपने नाम को सार्थक किया और जीवनपर्यंत जन कल्याण के काम किए. पीएम मोदी ने यह भी कहा कि वह कल्याण सिंह का सपना पूरा करेंगे. कल्याण सिंह को प्रभु राम अपने श्री चरणों में स्थान दें. उन्होंने लिखा कि जीवनपर्यंत जन कल्याण के लिए समर्पित रहे कल्याण सिंह के अंतिम दर्शन किए. उनके परिजनों से मिला. प्रभु श्रीराम उनके परिजनों को इस अपार दुख को सहने की शक्ति प्रदान करें.



संबंधित लेख

First Published : 22 Aug 2021, 05:46:40 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.