दिल्ली में चौंकाने वाला मामला सामने आया, नाबालिग के अपहरण के आरोप में 5 महीने बाद पति गिरफ्तार

0

<p style="text-align: justify;"><strong>नई दिल्लीः</strong> राजधानी दिल्ली के भलस्वा डेयरी इलाके से एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है, जिसमें एक नाबालिग लड़की के अपहरण के मामले में लगभग 5 महीने बाद पुलिस ने उस लड़की के पति को ही गिरफ्तार कर लिया. हालांकि, जब मामला अदालत में पहुंचा तो बचाव पक्ष की दलील सुनने के बाद अदालत ने लड़की के पति को जमानत दे दी. अदालत के समक्ष यह बात सामने आई कि जब लड़की के परिजनों ने उसके अपहरण संबंधित शिकायत दर्ज कराई थी, तो उसमें किसी का नाम नहीं लिखवाया गया था और न ही लड़की के पति पर किसी प्रकार का कोई शक जताया गया था.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>क्या है पूरा मामला</strong><br />अधिवक्ता रवि दराल का कहना है कि जनवरी 2021 में शाहबाद डेरी इलाके से लगभग साढ़े 17 वर्षीय एक लड़की अपने घर से बगैर बताए कहीं चली गई. जब वह घर नहीं लौटी तो उसके परिजनों ने इस मामले की शिकायत पुलिस से की. पुलिस ने इस संबंध में अपहरण व पॉक्सो एक्ट का मुकदमा दर्ज कर लिया. हालांकि अगले दिन वह लड़की अपने घर लौट आई और उसने परिजनों को बताया कि वह अपनी मां से नाराज होकर अपनी मामी के यहां चली गई थी.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;">इसके बाद पुलिस ने लड़की को मजिस्ट्रेट के सामने पेश कर उसके 164 के बयान भी दर्ज करवाए. उस बयान में भी लड़की ने यही बात बताई कि वह किसी बात को लेकर अपनी मां से नाराज हो गई थी और इस वजह से वह घर से बगैर बताए अपने मामी के यहां पर चली गई थी. लड़की को उसके घर वालों के साथ भेज दिया गया.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;">जनवरी 2021 में ही लड़की के परिजनों ने उसकी शादी एक लड़के से करवा दी. इस घटना के लगभग 5 महीने बाद यानी जून 2021 में पुलिस ने लड़की के पति को ही गिरफ्तार कर लिया. एडवोकेट रवि दराल का कहना है कि हमने अदालत के सामने यह दलील दी कि जिस समय लड़की के घर वालों ने पुलिस में शिकायत दी थी, उस समय यह लड़का भी उनके साथ थाने गया था.</p>
<p style="text-align: justify;">इसके अलावा जब पुलिस में शिकायत लिखवाई गई थी तो न तो किसी का नाम लिखवाया गया था और न ही इस लड़के पर किसी प्रकार का कोई शक जताया गया था. अब 5 महीने बाद पुलिस ने इस मामले में लड़की के पति को क्यों गिरफ्तार कर लिया? यह बात समझ से परे है. अदालत ने आरोपी को जमानत दे दी है. वकील रवि दराल का यह भी कहना है कि कोर्ट ने पुलिस के प्रति यह बात भी कही कि आप लोगों ने सिर्फ अपनी कागजी कार्रवाई पूरी करने की वजह से इस व्यक्ति को गिरफ्तार किया है.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;">जब इस विषय पर दिल्ली पुलिस का पक्ष जानना चाहा तो आउटर नॉर्थ जिले के एक वरिष्ठ अधिकारी ने ऑफ कैमरा कहा कि पुलिस ने यह गिरफ्तारी अपने जांच के आधार पर की है. माननीय अदालत ने जो भी निर्णय लिया है, उस पर हम कोई टिप्पणी नहीं कर सकते.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>यह भी पढ़ेंः </strong></p>
<p style="text-align: justify;"><strong><a title="पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, सतपाल महाराज और धन सिंह रावत समेत 11 विधायक बने मंत्री" href="https://www.abplive.com/states/up-uk/pushkar-singh-dhami-takes-oath-as-chief-minister-of-uttarakhand-1935780" target="">पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, सतपाल महाराज और धन सिंह रावत समेत 11 विधायक बने मंत्री</a></strong></p>