नौकायन टीम से बनी हुई है मेडल की उम्मीद, भारतीय जोड़ी लाइटवेट डबलस्कल्स के सेमीफाइनल में पहुंची

0

Tokyo Olympics: टोक्यो ओलंपिक के तीसरे दिन भारत की पुरुष नौकायन टीम ने शानदार प्रदर्शन किया है. अर्जुन लाल जाट और अरविंद सिंह की भारतीय जोड़ी ने पुरूषों की नौकायन लाइटवेट डबलस्कल्स स्पर्धा के रेपेशाज दौर में तीसरे स्थान पर रहकर सेमीफाइनल में जगह बना ली है. भारतीय जोड़ी ने 6:51.36 का समय निकाल कर अगले दौर में जगह बनाई. 

इस रेस में अर्जुन बोअर की और अरविंद स्ट्रोकर की भूमिका में थे. शुरुआत में 1000 मीटर तक भारतीय जोड़ी चौथे स्थान पर चल रही थी. हालांकि इसके बाद टीम ने रफ्तार पकड़ी और रेस में तीसरा स्थान हासिल किया. 

हीट मुकाबलों में चूक गई थी भारतीय जोड़ी 

इससे पहले कल दूसरी हीट में उतरी भारतीय जोड़ी छह टीमों की स्पर्धा में 6:40.33 का समय निकालकर पांचवे स्थान पर रही थी और सेमीफाइनल में जगह नहीं बना सकी थी. हालांकि इस इवेंट में निचली रैंकिंग की टीमों को रेपेशाज दौर से क्वार्टर फाइनल, सेमीफाइनल या फाइनल में जगह बनाने का एक और मौका मिलता है.

अर्जुन लाल जाट और अरविंद सिंह की भारतीय जोड़ी टोक्यो में ही आयोजित एशिया/ओसियाना कॉनटिनेंटल क्वालिफाइंग रेगाट्टा (Asia/Oceania Continental Qualifying Regatta ) टूर्नामेंट की फाइनल रेस में दूसरे स्थान पर रही थी. अपने इस प्रदर्शन के दम पर ही उन्होंने ओलंपिक के लिए क्वालिफाई किया था.

ये हैं इस खेल के नियम 

नौकायन लाइटवेट डबलस्कल्स वर्ग में दो खिलाड़ी एक नाव में होते हैं और दो दो चप्पू का इस्तेमाल करते हैं. हर पुरूष प्रतिभागी का अधिकतम वजन 72.5 किलो और औसत वजन 70 किलो होना चाहिये. महिला वर्ग में अधिकतम वजन 59 किलो और औसत 57 किलो होता है.

यह भी पढ़ें 

Tokyo Olympics: तीसरे दिन भारत की निराशाजनक शुरुआत, मेडल होप मनु भाकर क्वालिफाइंग राउंड में ही हुईं बाहर

India vs Sri Lanka: पहले टी20 में ऐसी हो सकती है टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन, जानिए धवन के साथ कौन करेगा ओपनिंग