पूर्वांचल दौरे पर पहुंचे सीएम योगी, कहा- कोई भी टेस्ट से परहेज न करे

0

highlights

  • पूर्वांचल दौरे पर पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ
  • सीएम ने कोरोना संक्रमित मरीजों का किया निरीक्षण
  • गंगा नदी निगरानी व्यवस्था का किया उद्घाटन

वाराणसी:

कोरोना की तीसरी लहर से जंग की तैयारियां परखने पूर्वांचल दौरे पर निकले मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ ने वाराणसी और मीर्जापुर का दौरा किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति टेस्ट कराने से परहेज न करे. योगी आदित्यनाथ मंगलवार को मीर्जापुर में कलेक्ट्रेट परिसर स्थित इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का निरीक्षण किया. मुख्यमंत्री ने सूचनाओं के आदान-प्रदान के काम के बारे में जाना. कंट्रोल रूम किस प्रकार काम करता है, किस तरह सूचनाएं प्रेषित होती हैं. इसके बारे में अधिकारियों से जानकारी ली. इस सदी की सबसे बड़ी महामारी के खिलाफ जब हम सभी मिलकर लड़ेंगे, तो इसके अपेक्षित परिणाम सामने आएंगे. इस दौरान उन्होंने कहा कि मेरी आप सबसे अपील है कि कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें एवं दूसरों को भी जागरूक करें, शहर हो या गांव, कोई भी व्यक्ति टेस्ट कराने से परहेज न करें.

उन्होंने कहा कि हर जनपद में पोस्ट कोविड वॉर्ड के निर्माण की कार्यवाही युद्धस्तर पर चल रही है. मीरजापुर में पोस्ट कोविड वॉर्ड स्थापित किया जा चुका है. थर्ड वेव की आशंकाओं को लेकर भी हम तैयारियां कर रहे हैं. मीर्जापुर मंडल में मां विंध्यवासिनी की कृपा से अच्छे परिणाम सामने आए हैं. एक समय यहां पर पॉजिटिविटी रेट 35 फीसद के आस-पास पहुंच गया था. सामूहिक प्रयास का ही परिणाम है कि आज यहां पॉजिटिविटी रेट 02 प्रतिशत के नीचे पहुंच गया है. थर्ड वेव की आशंका को देखते हुए सभी मेडिकल कॉलेजों व जिला अस्पतालों में पीकू एवं एनआईसीयू के निर्माण की कार्यवाही प्रारंभ कर दी गई है.

योगी ने कहा कि, मैनपावर की रिक्रूटमेंट और ट्रेनिंग की कार्यवाही निरंतर चल रही है. कोरोना के खिलाफ देश की लड़ाई को मजबूती के साथ बढ़ाने का कार्य हो रहा है. मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल को रिक्रूटमेंट के लिए अधिकृत किया गया है. जिलाधिकारी को स्वास्थ्य विभाग में जिला स्वास्थ्य समिति के अध्यक्ष के रूप में नामित किया गया है. वैक्सीन एक सुरक्षा कवच है. 12 वर्ष तक के बच्चों के अभिभावकों को ‘अभिभावक स्पेशल बूथ’ में प्राथमिकता पर वैक्सीन लगाई जाएगी. देश में वैक्सीनेशन कार्यक्रम वृहद स्तर पर चल रहा है, उत्तर प्रदेश इसमें अग्रणी भूमिका निभा रहा है. राज्य में अब तक 4.70 करोड़ टेस्ट सम्पन्न कर चुके हैं. प्रदेश में अब तक लगभग 1.65 करोड़ वैक्सीन की डोज दी जा चुकी. प्रदेश में पॉजिटिविटी रेट लगातार घट रहा है और रिकवरी रेट लगातार बढ़ रहा है. निगरानी समितियों ने बेहतर कार्य किया है. डोर-टु-डोर सर्वे कार्य, मेडिसिन किट का वितरण और टेस्ट की क्षमता को बढ़ाने का कार्य किया गया.

यह भी पढ़ेंःनारदा स्टिंग केस में गिरफ्तार TMC नेताओं पर SC ने सुनवाई से किया इंकार

इससे पहले उन्होंने वाराणसी में टीकाकरण का जायजा लिया. इस दौरान उन्होंने कोरोना की तीसरी लहर से जंग की तैयारी भी परखी. कोविड वार्ड व आक्सीजन प्लांट का अवलोकन कर तैयारियों का जायजा लिया. इसके बाद मुख्यमंत्री ने मीर्जापुर में ग्राम प्रधानों को कोविड नियंत्रण का मंत्र दिया. शहर के नुआंव व चंदईपुर में पहुंचकर जानकारी ली. मीर्जापुर में मुख्यमंत्री ने ढाई घंटे कोविड नियंत्रण की तैयारी की समीक्षा भी की.

यह भी पढ़ेंःचक्रवात ‘यास’ के चलते 22-30 मई के बीच दक्षिण पूर्व मध्य की 36 ट्रेनें रद

मुख्यमंत्री ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, शिवपुर में कोरोना टीकाकरण का स्थलीय निरीक्षण किया. इस दौरान वैक्सीन की पहली डोज लगवा रही सोनी कुमारी व सौरभ शर्मा से मुख्यमंत्री ने बातचीत की. पूछा कि वैक्सीनेशन में उन्हें कोई परेशानी तो नहीं हुई. सवाल के जवाब में सोनी और सौरभ ने बताया कि वैक्सीनेशन कराने के लिए कल ही उन्होंने स्लाट बुक किया था और आज ही की तिथि उन्हें वैक्सीनेशन के लिए मिल गयी. मुख्यमंत्री के पूछने पर लोगों ने बताया कि उनके परिवार के अन्य सदस्यों ने भी वैक्सीनेशन करा लिया है.

यह भी पढ़ेंःगीतांजलि चेयर के वकील ने कहा, राहुल चोकसी के लापता होने की खबर सही

इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ड्रोन द्वारा गंगा नदी में निगरानी व्यवस्था का शुभारंभ किया. इनका संचालन सिगरा स्थित कोविड कंट्रोल रूम से होगा. गंगा में ड्रोन से निगरानी व्यवस्था की रिपोर्ट कंट्रोल रूम में लगातार भेजी जाएगी. इसके लिए आधुनिक कैमरे से ड्रोन की वीडियो और फोटो लेकर भेजेंगे. वही इस ड्रोन से विभिन्न क्षेत्रों में सैनिटाइजर के छिड़काव के साथ ग्रामीण इलाकों व शहर की सफाई व्यवस्था का समय-समय पर निरीक्षण भी होगा. इसके लिए नगर निगम द्वारा चार ड्रोन मंगाये गए हैं.



संबंधित लेख