बैरक में TV के लिए गिड़गिड़ा रहा है यूपी का माफिया डॉन मुख्तार अंसारी

0

माफिया डॉन मुख्तार अंसारी को एक टीवी की जरूरत है उसके लिए वह बार-बार कोर्ट से गुहार लगा रहा है. मुख्तार ने यह भी कहा कि जज साहब टीवी मिल जाने पर मैं आपका आभारी रहूंगा.

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 06 Jul 2021, 12:24:28 PM

बैरक में TV के लिए गिड़गिड़ा रहा है यूपी का माफिया डॉन मुख्तार अंसारी (Photo Credit: न्यूज नेशन)

लखनऊ:

योगी सरकार में बांदा जेल बन्द कुख्यात माफिया विधायक मुख्तार अंसारी की बाराबंकी सीजेएम कोर्ट में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए तीसरी पेशी हुई. सीजेएम कोर्ट में पेशी शुरू होते ही मुख्तार अंसारी ने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट राकेश से फरियाद करते कहा कि साहब मेरे बैरक में टीवी लगवाने का आदेश जारी कर दीजिए. खिलाड़ी रह चुका हूं और इस समय वर्ल्ड कप भी चल रहा है. डॉन मुख्तार अंसारी ने जज से यह भी कहा कि अगर मेरी बैरक में टीवी लग जाएगी तो मैं हमेशा आपका ऋणी रहूंगा. मुख्तार अंसारी के अधिवक्ता रणधीर सिंह सुमन ने पेशी की जानकारी देते हुए बताया कि मुख्तार की इस गुजारिश पर जज ने कहा कि बांदा जेल से रिपोर्ट आ गई है.

मुख्तार अंसारी को बताया गया कि एम्बुलेंस मामले में चार्जशीट आ गई है, तो उसने कहा अल्लाह का शुक्र है कि पुलिस ने आरोप पत्र दाखिल कर दिया. सीजेएम कोर्ट ने अब इस केस की अगली तारीख 19 जुलाई तय की है. मुख्तार अंसारी ने कोर्ट में कहा कि मैं तो 16 साल से जेल में बंद हूं. मुझे कैसे इस मुकदमे में आरोपी बना दिया गया. उसने कहा कि मेरे खिलाफ कोई भी आरोप नहीं बनता. मुख्तार ने कहा कि यह सिर्फ राजनैतिक विद्वेष की वजह से चार्जशीट दाखिल की गई है. वहीं इस एम्बुलेंस कांड में सबसे पहले गिरफ्तार हो चुके राजनाथ यादव की जमानत अर्जी भी डाली गई थी, जिसमें कहा गया कि 90 दिन बीत गए हैं, लेकिन समय से पुलिस चार्ज शीट दाखिल नहीं कर पाई है इसलिए जमानत दी जाए. हालांकि उसके बाद पुलिस ने कोर्ट में तुरंत आरोप पत्र दाखिल कर दिया. इसके अलावा इस केस में वांछित सुरेंद्र शर्मा की अग्रिम जमानत अर्जी को आज कोर्ट ने खारिज कर दिया.

इसी  सुनवाई के दौरान मुख्तार अंसारी ने कोर्ट से टीवी वाली बात एक बार फिर दोहराई. दरअसल मुख्तार शुरू से ही सुनवाई के दौरान जज से बांदा जेल में टीवी लगवाने की मांग कर रहे हैं. मुख्तार का आरोप है कि उनके साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है. मुख्तार अंसारी ने कोर्ट में कहा कि पूरे यूपी में जेलों के बैरकों में टेलीविजन सुविधा दी जाती है, लेकिन मेरी बैरक से ये सुविधा छीन ली गई है. बांदा जेल वाले टीवी न देने पर यह कह सकते हैं कि हमारे पास बजट नहीं है. ऐसा सिर्फ राजनीतिक विद्वेष की वजह से किया जा रहा है. मुख्तार ने आरोप लगाया कि बांदा पुलिस अधीक्षक ने खुद टीवी को मेरे बैरक से हटवाया है. ऐसे में अगर आप मुझे टीवी की सुविधा उपलब्ध करवा देंगे तो हम जिंदगी भर आपके ऋणी रहेंगे. मुख्तार अंसारी की अपील पर सीजेएम राकेश ने कहा कि इस पर ऑर्डर किया जाएगा.

मुख्तार अंसारी समेत सात लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल

बाराबंकी पुलिस की चार्जशीट में मुख्तार अंसारी के साथ हॉस्पिटल संचालिका अलका राय व एसएन राय, राजनाथ यादव, आनंद यादव, शोएब मुजाहिद मुख्तार अंसारी और सलीम के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की गई है. मऊ के हॉस्पिटल के नाम पर खरीदी गई एंबुलेंस को मुख्तार अंसारी पंजाब में प्रयोग कर रहा था. 
1 अप्रैल को बाराबंकी शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज हुआ था. बाराबंकी में फर्जी नाम पते पर एंबुलेंस का रजिस्ट्रेशन करवाया गया था. 20 अप्रैल को बाराबंकी पुलिस ने मऊ के हॉस्पिटल संचालिका अलका राय को गिरफ्तार किया था.



संबंधित लेख

First Published : 06 Jul 2021, 12:24:28 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.