महिला मानव बम से लखनऊ को दहलाने की थी साजिशः ATS

0

कानपुर के 8 इंजीनियरिंग छात्र अलकायदा में शमिल थे, आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद सभी हो गये गायब, 4 दिनों से सभी स्टूडेंट्स अंडरग्राउंड हो गए.

News Nation Bureau | Edited By : Ritika Shree | Updated on: 14 Jul 2021, 04:28:09 PM

Terrorists (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • अलकायदा के सम्पर्क में 8 इंजीनियरिंग छात्र
  • महिला मानव बम का प्लान लखनऊ में था
  • बकरीद से पहले सभी के बीच होनी थी बैठक

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पिछले दिनों दो आतंकवादियों को गिरफ्तार किए जाने के बाद अलकायदा मॉड्यूल को लेकर नए नए खुलासे हो रहे हैं. इसी कड़ी में एक और बड़ा खुलासा हुआ है. लखनऊ से गिरफ्तार अलकायदा आतंकियो की डायरी में मिले बेहद अहम सुराग, मिनहाज के पास से बरामद डायरी में कोड वर्ड और लेनदेन संपर्कों की जानकारियां प्राप्त हुई. डायोड, ट्रायोड, इलेक्ट्रोड, वाल्व, फ़्यूज़, एमसीबी जैसे कई कोड वर्ड जिनका मतलब जानने में जुटी एजेंसीयां, डायरी को जलाने की कोशिश की गई थी. डायरी में तौहीद और मूसा का भी जिक्र जिनसे मिनहाज टेलीग्राम के जरिए संपर्क में था. कश्मीर के रहने वाले तौहीद के खाते में मिनहाज ने पैसे लखनऊ के एक जनसेवा केंद्र से भेजे थे. डायरी के मुताबिक मिनहाज ने लखनऊ के शकील के जरिए कानपुर के एक युवक से 32 बोर देसी पिस्टल  खरीदी थी, मिनहाज को अलकायदा से जुड़े कई साल हो गए हैं. डायरी से पता चला कि पिछले 3 साल में उसकी मुलाकात संगठन के बड़े आकाओं से हुई और मिनहाज को बड़ी जिम्मेदारी दे दी गई. 

यह भी पढ़ेः UP में टीचर्स से नहीं कराया जाएगा गैर शैक्षणिक काम, इलाहाबाद हाईकोर्ट ने दिया बड़ा आदेश

जम्मू-कश्मीर में हुई थी मिनहाज की आतंकी ट्रेनिंग, लॉकडाउन के दौरान भी उसकी प्लानिंग जारी थी लेकिन पुलिस की मुस्तैदी के चलते वो विस्फोटक के साथ लखनऊ से निकल नहीं निकल पाया. डायरी के मुताबिक मिनहाज को मिले विस्फोटक और हथियारों के लिए 25 लाख से ज्यादा का भुगतान किया गया था, कानपुर में 13 ऐसे बैंक खातों की जानकारी मिली है जो इससे जुड़े हुए हैं. ATS सूत्रों के मुताबिक़, अलकायदा के सम्पर्क में 8 इंजीनियरिंग छात्र थे, कानपुर के 8 इंजीनियरिंग छात्र अलकायदा में शमिल थे, आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद सभी हो गये गायब, 4 दिनों से सभी स्टूडेंट्स अंडरग्राउंड हो गए. बकरीद से पहले सभी के बीच होनी थी बैठक, बैठक में ब्लास्ट की जगह निर्धारित होनी थी, महिला मानव बम का प्लान लखनऊ में था, कानपुर की 3 महिलाएं भी अंडरग्राउंड हो गईं.

यह भी पढ़ेः CM योगी का बड़ा ऐलान- ओलंपिक पदक विजेताओं को यूपी सरकार देगी इतना नकद पुरस्कार

 लखनऊ में पकड़े गए आतंकियों की 14 दिन की एटीएस कस्टडी रिमांड कोर्ट ने मंजूर कर दी है. इस दौरान ATS आतंकवादियों से पूछताछ करेगी. ATS ने आतंकियों से पूछताछ के लिए 100 से ज्यादा सवाल तैयार किए हैं. एटीएस सूत्रों ने बताया है कि अलकायदा के आतंकियों के निशाने पर अयोध्या में बन रहा भव्य राम मंदिर था. इसके अलावा मथुरा और काशी के धार्मिक स्थल भी इन आतंकियों को निशाने पर थे. सूत्रों ने बताया है कि लखनऊ में पकड़े गए अलकायदा के आतंकियों के पास से मथुरा, काशी और अयोध्या के धार्मिक स्थानों के नक्शे बरामद हुए हैं. गौरतलब है कि राजधानी लखनऊ में यूपी एटीएस ने अलकायदा मॉड्यूल का पर्दाफाश करते हुए बड़ी आतंकी साजिश को नाकाम कर दिया है. बीते दिन यूपी एटीएस ने लखनऊ में दो आतंकवादियों मिनहाज अहमद और नसीरूद्दीन को गिरफ्तार किया. हालांकि कुछ संदिग्ध भागने में कामयाब रहे. गिरफ्तार इन दोनों आतंकवादियों के आतंकी संगठन अलकायदा से संबंध होने की बात सामने आई. इन दोनों आतंकियों को पाकिस्तान से हैंडल किया जा रहा था. पाकिस्तान-अफगानिस्तान में बैठे अपने हैंडलर ‘उमर हलमंडी’ के निर्देश पर ये दोनों आतंकवादी योगी सरकार को बदनाम करने के लिए लखनऊ में बड़ी वारदात करने के खिराक में थे. उन्होंने पर्याप्त मात्रा में विस्फोटक और गोला बारूद भी इकट्ठा कर लिए थे, जिन्हें गिरफ्तारी के दौरान पुलिस ने बरामद किया था.



संबंधित लेख

First Published : 14 Jul 2021, 03:45:55 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.