‘माई हैंडलूम माई प्राइड’ एक्जीबिशन पहुंची केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी

0

नई दिल्लीः देशभर में हथकरघा उद्योग को बचाए रखने और पुनर्जीवित करने के लिए हर साल 7 अगस्त को नेशनल हैंडलूम डे (National Handloom Day) मनाया जाता है. इसकी शुरुआत साल 2015 में की गई थी, वहीं इस बार 7वें नेशनल हैंडलूम डे के मौके पर राजधानी दिल्ली के दिल्ली हाट, आईएनए में ‘माई हैंडलूम माई प्राइड’ एक्जीबिशन का आयोजन किया गया है.

दिल्ली हाट पहुंची केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी

इस खास मौके पर केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी, दर्शन जरदोश और अनुप्रिया पटेल को दिल्ली हाट, आईएनए में शॉपिंग करते देखा गया. उनके साथ सांसद रूपा गांगुली, हेमा मालिनी और नवनीत राणा भी मौजूद रहीं. इस दौरान सभी को एक्जीबिशन में लगी दुकानों पर जाकर खरीदारी करे देखा गया. 

7 अगस्त को मनाया जाएगा नेशनल हैंडलूम डे

बता दें कि साल 2015 में देश में बुनकरों की गिर रही स्थिति को संभालने के लिए हथकरघा उद्योग को पुर्जिवित करने के लिए हर साल 7 अगस्त के दिन नेशनल हैंडलूम डे के रूप में मनाए जाने का फैसला किया गया. इसके बाद 7 अगस्त 2015 को चेन्नई में मद्रास विश्वविद्यालय के कार्यक्रम के दौरान देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेशनल हैंडलूम डे का उद्घाटन किया.

नेशनल हैंडलूम डे का उद्देश्य

नेशनल हैंडलूम डे को मनाए जाने का उद्देश्य बुनकरों में जागरुकता पैदा करना और बाजारों तक उनकी पहुंच को बढ़ाना है. इसके जरिए बुनकरों के लिए अनुसंधान का विकास किया जाता है. साथ ही साथ कच्चे माल की पहुंच को आसान बनाया जाता है. नेशनल हैंडलूम डे को मनाए जाने का मुख्य उद्देश्य देश की हथकरघा विरासत को बचाए रखना और उसका विकास करना है.

बता दें कि भारतीय इतिहास में 7 अगस्त का विशेष महत्व है. दरअसल 7 अगस्त 1905 को देश में घरेलू चीजों के उत्पादन को नया जीवन दिए जाने को लेकर स्वदेशी आंदोलन शुरू हुआ था. जिसकी याद में मोदी सरकार ने 7 अगस्त को नेशनल हैंडलूम डे मनाने का निर्णय लिया था.

इसे भी पढ़ेंः
जितेन्द्र सिंह के BJP में शामिल होने पर हैरान रीता बहुगुणा जोशी बोलीं- ये वही हैं जिसने मेरा घर जलाया | जेपी नड्डा से की ये अपील

Bihar Unlock: सात से 25 अगस्त तक अनलॉक लागू, स्कूल खोलने को लेकर सरकार ने किया बड़ा फैसला