मेडिकल कॉलेज में बच्चा बदलने का आरोप, मचा हंगामा

0

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले में स्थित जिला मेडिकल कॉलेज में बच्चा बदलने का मामला सामने आया है. कुछ लोगों ने मेडिकल स्टाफ पर बच्चा बदलने का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया. बाद में सीओ सिटी ने मौके पर आकर किसी तरह परिजनों को शांत कराया. मामला शुरू हुआ सोमवार को दो महिलाओं की लगभग एक समय पर डिलीवरी के कारण. प्रतापगढ़ में जिला मेडिकल कॉलेज में दो महिलाएं पूजा श्रीवास्तव और रेखा तिवारी गर्भवती होने पर भर्ती हुई थीं. मेडिकल स्टाफ दोनों के देखरेख कर रहा था.

सोमवार को दोनों महिलाओं की सकुशल डिलीवरी भी हुई. रेखा तिवारी की डिलीवरी के बाद आया ने आकर उनके परिजनों के एक बच्चा सौंपा. बताया कि यह आपका बच्चा है. बच्चा लड़का था. परिवारीजन खुशी से झूमने लगे. परिवार में खुशी की लहर दौड़ गई लेकिन मामले में ट्विस्ट तब आया जब आया दोबारा आई और बच्चे को पूजा श्रीवास्तव का बच्चा बताकर वापस ले गई. इससे परिवार में सनसनी फैल गई. इसके बाद परिजनों ने हंगामा करना शुरू कर दिया. परिजनों ने अस्पताल स्टाफ पर आरोप लगाया कि उनका बच्चा बदल दिया गया है. 

अस्पताल में हंगामा होने लगा तो पुलिस को सूचना दी गई. एसपी सिटी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे. उन्होंने आक्रोशित परिजनों को समझाया-बुझाया. इसके बाद डीएनए टेस्ट कराने का आश्वासन दिया तो परिजन शांत हुए. 

बता दें कि कई अस्पतालों में बच्चा बदलने की घटनाएं पहले भी सामने आ चुकी हैं. कई स्थानों पर ऐसे मामले सामने आए हैं, जब लड़की होने पर एक पक्ष पैसे देकर स्टाफ से बच्चा बदलवा देता है. उसी दिन हुए किसी भी लड़के को खुद रखकर, लड़की को किसी और को सौंप देता है. ऐसे मामलों में पहले सच्चाई सामने लाने की कोई स्थिति नहीं होती थी लेकिन अब डीएनए टेस्ट की सुविधा आने से सच्चाई पता लगाना आसान हो गया है. डीएनए टेस्ट के द्वारा किसी भी व्यक्ति के पिता-माता एवं अन्य संबंधियों के बारे में पता किया जा सकता है. 

बता दें कि कई अस्पतालों में बच्चा बदलने की घटनाएं पहले भी सामने आ चुकी हैं. कई स्थानों पर ऐसे मामले सामने आए हैं, जब लड़की होने पर एक पक्ष पैसे देकर स्टाफ से बच्चा बदलवा देता है. उसी दिन हुए किसी भी लड़के को खुद रखकर, लड़की को किसी और को सौंप देता है. ऐसे मामलों में पहले सच्चाई सामने लाने की कोई स्थिति नहीं होती थी लेकिन अब डीएनए टेस्ट की सुविधा आने से सच्चाई पता लगाना आसान हो गया है. डीएनए टेस्ट के द्वारा किसी भी व्यक्ति के पिता-माता एवं अन्य संबंधियों के बारे में पता किया जा सकता है. हालांकि प्रतापगढ़ की घटना में बच्चा बदलने का आरोप कितना सच है और कितना गलतफहमी ये डीएनए टेस्ट के बाद ही पता चल सकेगा.  फिलहाल मामले की जांच की जा रही है.



संबंधित लेख