यूपी में अब 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं रद्द, 26 लाख बच्चों को बड़ी राहत

0

कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर के कहर के बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने भी अपनी बोर्ड की परीक्षा रद्द कर दी है.

Written By : निहार सक्सेना | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 03 Jun 2021, 01:43:16 PM

योगी सरकार का कोरोना कहर के बीच बड़ा फैसला. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • यूपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा के लिए 26,09,501 स्टूडेंट्स पंजीकृत हैं
  • हाईस्कूल परीक्षा के फॉर्मूले के आधार पर ही दिए जाएंगे 12वीं के नंबर
  • सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर फैसले पर लगाई मुहर

लखनऊ:

कोरोना वायरस (Corona Virus) संक्रमण की दूसरी लहर के कहर के बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने भी अपनी बोर्ड की परीक्षा रद्द कर दी है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की अगुवाई में हुई बैठक के बाद यह फैसला लिया गया. इससे पहले सीबीएसई और आईसीएसई की 12वीं की परीक्षा कैंसिल कर दी गई थी. यूपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा के लिए 26,09,501 स्टूडेंट्स पंजीकृत हैं. केंद्र के इस फैसले के बाद गुजरात, मध्य प्रदेश समेत कई बोर्ड ने अपनी परीक्षाएं रद्द कर दी थी और अब यूपी बोर्ड ने भी परीक्षा रद्द करने का फैसला ले लिया है. 

हाईस्कूल के फॉर्मूले पर ही 12वीं के नंबर
इस मामले में उत्तर प्रदेश के डेप्युटी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा ने प्रेस कांफ्रेंस करके जानकारी दी. डॉ. दिनेश शर्मा ने बताया कि यूपी बोर्ड परीक्षाएं कराने के लिए हमने तैयारियां कर ली थीं. हाई स्कूल बोर्ड की परीक्षाएं पहले ही रद्द कर दी गई थीं. ऑनलाइन टीचिंग को देखते हुए पेपर सेटिंग में 30 फीसदी कम कोर्स लेकर बोर्ड के पेपर तैयार किए गए थे.12वीं की बोर्ड परीक्षा रद्द होने के बाद अब हाई स्कूल के फॉर्म्युले पर ही इंटरमीडिए़ड बोर्ड के परीक्षार्थियों को नंबर दिए जाएंगे. मतलब परीक्षार्थियों को जिस तरह से 11वीं में नंबर मिले हैं. उसी आधार पर इंटर का भी रिजल्ट तैयार किया जाएगा.

यह भी पढ़ेंः एमपी में जूनियर डॉक्टर की हड़ताल जारी, शिवराज सरकार ने दी सख्त चेतावनी

कोरोना कहर के कारण फैसला
डिप्टी सीएम ने बताया कि प्रधानमंत्री ने सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं रद्द करने की पहले ही घोषणा कर दी थी. अब यूपी में बैठक के बाद इंटरमीडिएट परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं क्योंकि कोरोना संक्रमण पूरी को पूरी तरह से जाने में समय लग सकता है. यूपी बोर्ड विश्व का सबसे पड़ा बोर्ड है. 100 साल के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है जब बोर्ड परीक्षाएं रद्द की गई हैं. 

यह भी पढ़ेंः बिना परीक्षा 12वीं के रिजल्ट को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने मांगी CBSE-ICSE से इंटरनल असेसमेंट की जानकारी 

पहले ही दिए थे संकेत
सीएम योगी ने ट्वीट कर कहा, ‘कोविड महामारी की वर्तमान परिस्थितियों के दृष्टिगत बच्चों की स्वास्थ्य सुरक्षा हमारी शीर्ष प्राथमिकता है. आदरणीय प्रधानमंत्री जी की प्रेरणा से उत्तर प्रदेश सरकार ने निर्णय लिया है कि वर्तमान शैक्षिक सत्र में माध्यमिक शिक्षा परिषद की 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षा का आयोजन नहीं किया जाएगा.’ इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने सीबीएसई बोर्ड की बारहवीं कक्षा की परीक्षाएं रद्द करने के केंद्र सरकार के फैसले का स्वागत करते हुए संकेत दे दिए थे कि यूपी बोर्ड 12वीं की परीक्षाएं भी अब नहीं होंगी.



संबंधित लेख

First Published : 03 Jun 2021, 01:10:47 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.