यूपी ATS को बड़ी सफलता, ISI मॉड्यूल के 3 आतंकी गिरफ्तार

0

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश के आतंकरोधी दस्ते (ATS) ने मंगलवार को दिल्ली पुलिस के साथ संयुक्त आपरेशन में यूपी के चार शहरों में छापेमारी कर आईएसआई के बड़े नेटवर्क का पर्दाफाश किया है. एटीएस ने यह छापेमारी लखनऊ, प्रयागराज, रायबरेली और प्रतापगढ़ में की है. पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के जरिये गिरफ्तार किए गए आतंकवादी प्रशिक्षित किए गए थे. यूपी एटीएस ने इनके कब्जे से प्रयागराज स्थित बन नैनी के डांडी से एक अतिसंवेदनशील आईईडी बरामद की है. इसमें उच्च श्रेणी के विस्फोटक आरडीएक्स और अमोनियम नाइट्रेट के इस्तेमाल की जानकारी है. अयोध्या के साथ ही चुनाव के दौरान होने वाली बड़ी रैलियों या किसी बड़े आयोजन में यह माड्यूल विस्फोट करने की साजिश रच रहा था.

यह भी पढ़ें : उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया बोले, अपने दम पर पार्टी चुनाव लड़ेगी

यूपी एटीएस के एडीजी प्रशांत कुमार ने प्रेसवार्ता में कहा कि यूपी एटीएस द्वारा एक महत्वपूर्ण सफलता हासिल करते हुए आईएसआई स्पॉन्सर्ड मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया गया है और 3 लोगों को हिरासत में लिया गया है. लखनऊ, रायबरेली, प्रतापगढ़ और प्रयागराज में एक साथ रेड के दौरान ये सफलता मिली. प्रयागराज से एक लाइव आईडीबी भी बरामद हुआ है. उसे निष्क्रिय किया जा रहा है. आतंकियों से आगे की पूछताछ जारी है. यूपी एटीएस ने प्रयागराज के करेली से जीशान कमर (28), रायबरेली से मूलचंद उर्फ लाला उर्फ सज्जू और लखनऊ के मानकनगर प्रेमवती नगर से मोहम्मद आमिर जावेद को गिरफ्तार किया है. प्रारंभिक सूचना मिली है कि आतंकवादियों ने आईएसआई से ट्रेनिंग ली है.

दिल्ली पुलिस का खुलासा: देश के कई राज्यों में फैला पाक आतंकियों का नेटवर्क

वहीं, दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के पुलिस कमिश्नर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि मल्टी स्टेट ऑपरेशन में 6 आतंकियों को अरेस्ट किया गया है, जिनमें 2 पाक से इसी साल ट्रेनिंग लेकर आए हैं. उन्होंने बताया कि इनपुट मिला था आतंकियों द्वारा भारत के कुछ शहरों को दहलाने की साजिश रची जा रही है. जिस पर टीम गठित की गई, टेक्निकल इनपुट के आधार पर पता चला की कई स्टेट में फैला नेटवर्क है. जिसके चलते कई राज्यों में रेड की गई. इस दौरान महाराष्ट्र में सबसे पहले समीर को अरेस्ट किया गया, फिर दिल्ली से 2, इसके बाद उत्तर प्रदेश एटीएस के साथ मिलकर 3 और अरेस्ट किए गए.  पुलिस की गिरफ्त में आए जान मोहमद महारास्तर, ओसामा जामिया नगर, जीशान इलाहबाद यूपी निवासी, अबू कमर दिल्ली से, आमिर जावेद लखनऊ का रहने वाला है.

यह भी पढ़ें : विदेश राज्यमंत्री मुरलीधरन 15 से 17 सितंबर तक अल्जीरिया के दौरे पर

दिल्ली पुलिस ने बताया कि 2 सबसे पहले मस्कट गए, वहां से बोट से पाकिस्तान, वहां ट्रेनिंग दी. इनके ग्रुप में 12 से ज्यादा बंगला बोलने वाले थे, उन्हें भी ट्रेनिंग दी गई. एक टीम दाऊद का भाई अनीश इब्राहिम कॉर्डिनेट कर रहा था..फंडिंग ऑर्गेनाइज करना काम था, आरोपी लाला भी उसका पार्ट था. 6 लोगों से आगे भी पूछताछ होगी. ट्रेनिंग के बारे में डिटेल में बताया है, जिसे सेंट्रल एजेंसी से भी शेयर करेंगे…ओसामा और जीशान..पाकिस्तानी नहीं हैं, पाकिस्तान से ट्रेंड हैं. उन्होंने बताया कि आं​तकियों के पास से इटालियन पिस्टल रिकवर हुई हैं…पूछताछ में खुलासा हुआ कि दिल्ली, यूपी, महाराष्ट्र इनके टारगेट पर थे, जहां ब्लास्ट प्लान कर रहे थे. फेस्टिव सीजन आतंक के लिए टारगेट पर थे. सभी छह आरोपियों को कोर्ट में पेश करके 14 दिन के रिमांड की मांग की जाएगी.



संबंधित लेख