योगी को चुनौती देंगे उद्धव, सभी 403 सीटों पर चुनाव लड़ेगी शिवसेना

0

यूपी चुनाव 2022 (UP Elections 2022) को लेकर जहां भाजपा दोबारा सत्ता में काबिज होने के लिए जुटी है तो वहीं सपा, बसपा और कांग्रेस खुद को जमीनी स्तर पर मजबूत कर रही है. यूपी की जनता को लुभाने के लिए सारी राजनीतिक पार्टियां तरह-तरह के हथकडे अपना रही हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 11 Sep 2021, 11:03:06 PM

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) (Photo Credit: न्यूज नेशन)

मुंबई:

उत्तर प्रदेश में अगले साल यानी 2022 में विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly elections) होने वाले हैं. यूपी चुनाव 2022 (UP Elections 2022) को लेकर जहां भाजपा दोबारा सत्ता में काबिज होने के लिए जुटी है तो वहीं सपा, बसपा और कांग्रेस खुद को जमीनी स्तर पर मजबूत कर रही है. यूपी की जनता को लुभाने के लिए सारी राजनीतिक पार्टियां तरह-तरह के हथकडे अपना रही हैं. इस बीच उत्तर प्रदेश चुनाव में सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) चुनौती देंगे. शिवसेना ने यूपी चुनाव को लेकर शनिवार को बड़ा ऐलान किया है. 

यह भी पढ़ें : कैलिफोर्निया ने अमेजन के एल्गोरिथम-चालित नियमों को लक्षित करने वाला बिल पास किया

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में शिवसेना (Shiv Sena) प्रदेश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी. यानी यूपी की 403 विधानसभा सीटों पर शिवसेना अपने उम्मीदवार उतारेगी. माना जा रहा है कि शिवसेना की यूपी में आने का मतलब चुनाव में बीजेपी को नुकसान हो सकता है. भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना की विचारधारा एक है और दोनों पार्टी हिंदुत्व की राजनीति करती है. 

पहले शिवसेना एनडीए की सहयोगी पार्टी थी, लेकिन महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद बीजेपी (BJP) और शिवसेना (Shiv Sena ) के बीच खटास आ गई. महाराष्ट्र सीएम पद को लेकर दोनों पार्टियां अड़ी रहीं और अंत में शिवसेना-बीजेपी अलग हो गई. इसके बाद शिवसेना ने राज्य में कांग्रेस और एनसीपी से मिलकर सरकार बनाई और उद्धव ठाकरे खुद ही सीएम बन गए. 

यह भी पढ़ें : कोझीकोड हवाई अड्डे पर हुई विमान दुर्घटना की जांच पूरी, जांच ब्यूरो ने नागरिक उड्डयन मंत्रालय को सौंपी ये रिपोर्ट

माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश चुनाव में बीजेपी को हराने के लिए शिवसेना ने अपने प्रत्याशी उतारने की घोषणा की है. संगठन की प्रांतीय कार्यकारिणी की बैठक में यह फैसला लिया गया. इस बैठक में शिवसेना ने आरोप लगाया कि बीजेपी सरकार के शासन में कानून व्यवस्था पूरी तरह फेल हो गई है और बहन बेटियां सुरक्षित नहीं हैं. हालांकि, शिवसेना ने अभी तक किसी अन्य राजनीतिक दल के साथ गठबंधन नहीं किया है, लेकिन गठबंधन की संभावना का संकेत दिया है.



संबंधित लेख

First Published : 11 Sep 2021, 10:29:31 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.