लखनऊ में ऑक्सीजन की भारी किल्लत, दर बदर भटक रहे हैं परिजन

0
लखनऊ में ऑक्सीजन की भारी किल्लत, दर बदर भटक रहे हैं परिजन

 

लखनऊ के नादरगंज स्थित एक ऑक्सीजन प्लांट के बाहर हमे ऐसी ही तस्वीर दिखी जहां कुछ लोग ऑक्सिअजन सिलिंडर लेकर ऑक्साजन प्लांट पहुचे तो प्लांट से पहले ही पुलिस ने इन्हें रोक दिया.

Oxygen (Photo Credit: सांकेतिक चित्र)

लखनऊ:

महामारी कोरोनावायर से हर तरफ तबाही मची हुई है। कोरोना की स्थिति पूरी तरह बेकाबू हो चुकी है। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी वायरस का प्रकोप जारी है. हर दिन नए संक्रमित मरीज सामने आ रहे हैं। अस्पतालों में मरीजों के लिए जगह नहीं बची है. वहीं राजधानी में ऑक्सीजन की भी किल्लत बरकरार है। अस्पतालों में बेड न मिलने की वजह से लोग मरीजों को घरों में ऑक्सीजन पर रखे हुए हैं. दूसरी तरफ ऑक्सीजन खत्म होने पर जब मरीज के परिजन ऑक्सीजन प्लांट पहुंच रहे हैं तो वहां भी उन्हें बाहर ही रोक दिया जा रहा है।

लखनऊ के नादरगंज स्थित एक ऑक्सीजन प्लांट के बाहर ऐसी ही तस्वीर देखने को मिली. यहां कुछ लोग ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर ऑक्सीजन प्लांट पहुंचे वहां पुलिस ने उन्हें रोक दिया. लोगों का आरोप है कि बैरिकोडिंग के अंदर पुलिस उन्हें जाने नहीं दे रही है. यहां मौजूद कुछ लोग हॉस्पिटल की पर्ची लेकर ऑक्सीजन लेने पहुंचें, उन्हें भी जाने नहीं दिया गया. मौके पर मौजूद एसीपी भी इस मामले पर कोई जवाब नहीं दे पाए, आखिर उन्हें क्यों रोका जा रहा है।

वहीं  नादरगंज में मुरारी ऑक्सीजन प्लांट के बाहर दर्जनों की संख्या में लोग ऑक्सीजन के लिए इक्कठा हैं। इन लोगों का कहना है कि बीती रात से ये लोग ऑक्सीजन प्लांट के बाहर इंतेज़ार कर रहे हैं लेकिन इन्हें ऑक्सीजन नही मिल पाया है। इन लोगों का ये भी आरोप है कि सिर्फ अस्पतालों को ऑक्सिज की सप्लाई की जा रही है. जिनके मरीज घरों में हैं उन्हें ऑक्सीजन देने में आनाकानी की जा रही है। गौर करने वाली बात ये है कि लोग अस्पतालों में बेड न मिलने की वजह से मरीजों को घरों में रखा हुआ हैं।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में कोरोना से हालात दिनों दिन बिगड़ते जा रहे हैं. बीते 24 घंटे में 195 लोगों ने दम तोड़ दिया है। इसके अलावा 34,379 नए मरीज मिले. वहीं राजधानी लखनऊ में गुरुवार को 5239 नए संक्रमित मिले. इसके साथ ही 19 लोगों ने दम तोड़ा. यहां पर एक्टिव केस अभी भी 54967 हैं। अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद के अनुसार, 34379 नए मामले सामने आने के साथ ही 16514 लोग डिस्चार्ज हुए हैं. राज्य में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 259810 हैं।

लखनऊ के बाद प्रयागराज में 2013 संक्रमित मिले हैं. यहां पर मौत का आंकड़ा काफी तेजी से बढ़ रहा है. प्रयागराज में 18 लोगों की मौत हो गई. वाराणसी में 1813 संक्रमित मिले जबकि दस लोगों का निधन हो गया. कानपुर में 18 लोगों की मौत हो गई, बीते 24 घंटे में यहां पर 1516 नए संक्रमित मिले हैं।

मेरठ में 1684, गोरखपुर में 1136 व गाजियाबाद में 1023 नए संक्रमित मिले हैं. गौतमबुद्धनगर में 24 घंटे में 11 लोगों की मौत हुई जबकि यहां पर नए संक्रमित 530 हैं. इनके अलावा मुरादाबाद में 870, बरेली में 865, झांसी में 823, मिजार्पुर में 777, चंदौली में 713, गाजीपुर में 657, जौनपुर में 598 तथा सुलतानपुर में 24 घंटे में 569 नए संक्रमित मिले हैं।