श्रीनगर: कोरोना के चलते अस्पतालों पर बढ़ा दबाव, जिले में कोरोना केंद्र बनाया गया

0
श्रीनगर: कोरोना के चलते अस्पतालों पर बढ़ा दबाव, जिले में कोरोना केंद्र बनाया गया

<p>कोरोना के बढ़ते मामलो को बीच श्रीनगर जिले में कोरोना का केंद्र बन गया है. पिछले एक हफ्ते से श्रीनगर में लगातार 500 से ज़ायदा मामले सामने आने के बाद अस्पतालों पर काफी ढबाव बढ़ गया है. आने वाले दिनों में कोविड बेड की कमी ना हो, इसके लिए प्रशासन ने श्रीनगर में अन्य कोविड सेंटर खोलने का फैसला लिया है.</p>
<p>श्रीनगर के डिप्टी कमिश्नर अजाज़ असद के अनुसार श्रीनगर में अगले 24 घंटो के भीतर 7 जगहों पर नए कोविड सेंटर खोले गए जिन में 1300 मरीज़ो के उपचार की वेवस्था होगी. श्रीनगर में यह कोविड सेंटर इंडोर स्टेडियम, हज हाउस, नेशनल इनसीटूट ऑफ टेक्नॉलजी (NIT), कश्मीर यूनिवर्सिटी, और रावलपुरा कम्युनिटी सेंटर में खोले जा रहे है.</p>
<p><strong>श्रीनगर ज़िले में एक्टिव संक्रिमत लोगो की संख्या 5850 हो गई है</strong></p>
<p>श्रीनगर में पिछले 24 घंटो में 748 कोरोना के नए पॉजिटिव मामले रिकॉर्ड किये गए जिस के साथ ही अकेले श्रीनगर ज़िले में एक्टिव संक्रिमत लोगो की संख्या 5850 हो गई है. अभी तक श्रीनगर में 508 लोगो की कोरोना के कारन मृत्यु हो चुकी है. इसी लिए अभ जिल्ला प्रशसन ने कोरोना की लहर के बढ़ने की आशंका को देखते हुवे तयारी भी तेज़ कर दी है और इसी के चलते नए कोविड सेंटर बनाने और नए ऑक्सीजन प्लांट लगाने में तेज़ी लायी जा रही है. श्रीनगर के इंडोर स्टेडियम में तेज़ी से बीएड लगाने और ऑक्सीजन सिस्टम लगाने का काम जारी है.</p>
<p><strong>ऑक्सीजन सप्लाई में 3500 लीटर प्रति मिनट की बढ़ोतरी हो जाएगी</strong></p>
<p>डिप्टी कमिश्नर अजाज़ असद के अनुसार श्रीनगर में अगले तीन दिनों में ऑक्सीजन सप्लाई में 3500 लीटर प्रति मिनट की बढ़ोतरी हो जाएगी जिस के लिए श्रीनगर के तीन बड़े अस्पतालों में नए ऑक्सीजन प्लांट लगाने का काम युद्द सित्र&nbsp; पर चल रहा है.</p>
<p>जम्मू कश्मीर में मार्च महीने के अंत से कोरोना के आंकड़ों में तेज़ी आणि शुरू हो गयी थी और 30 मार्च को रिकॉर्ड 660 मामलो से बाद कर यह आंकड़ा 25 अप्रैल को 19585 हो चुकी है और 2156 लोगो की जान भी चली गई है.</p>