सुधरते हालातों के बीच दिल्ली सरकार ने सरकारी-प्राइवेट अस्पतालों को बेड्स कम करने का दिया आदेश

0

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना के मामले तेज़ी से कम हो रहे हैं और संक्रमण दर भी 0.10% पर पहुंच गई है. सुधरते हालातों, कोरोना के कम होते मामलों और अस्पतालों में काफी संख्या में खाली पड़े कोविड बेड्स को देखते हुए दिल्ली सरकार ने प्राइवेट अस्पतालों और नर्सिंग होम में कोरोना के इलाज के लिए रिर्जव बेड्स की संख्या को कम करने का आदेश जारी किया है. इसके साथ ही दिल्ली सरकार ने अपने अंतर्गत आने वाले सरकारी अस्पतालों और कोविड केयर सेंटर्स में भी कोविड बेड्स की संख्या कम करने का आदेश जारी किया है.

प्राइवेट अस्पतालों के लिए दिल्ली सरकार द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि कोरोना के मामले अब कम हो रहे हैं और काफी संख्या में कोविड बेड्स खाली पड़े हैं. इसके साथ ही नॉन-कोविड मरीज़ों के इलाज के लिए बेड्स की आवश्यकता है. इसे देखते हुए दिल्ली सरकार ने प्राइवेट अस्पतालों और नर्सिंग होम को आदेश जारी किया है. आदेश में कहा गया है कि-

– 100 या उससे ज़्यादा बेड कैपेसिटी वाले सभी प्राइवेट अस्पताल और नर्सिंग होम अपने यहां कोरोना के लिए रिज़र्व बेड्स की संख्या अपनी कुल बेड क्षमता के 30% तक कम कर सकते हैं, या फिर 16 जून 2021 तक अपनी कुल बेड ऑक्यूपेंसी का तीन गुना कम कर सकते हैं. इनमें से जो भी संख्या ज्यादा होगी वो मान्य होगी.

– साथ ही, 100 से कम बेड वाले प्राइवेट अस्पताल और नर्सिंग होम के पास विकल्प होगा कि वो अपने यहां कोरोना बेड रिज़र्व रख सकते हैं.

– इसके अलावा, ऐसे नर्सिंग होम जिन्हें कोविड के इलाज अस्थायी रजिस्ट्रेशन दिया गया था अपने 100% बेड कोरोना के इलाज के लिए रिज़र्व रखेंगे.

आदेश में ये भी कहा गया है कि अगर दिल्ली में कोरोना के केस बढ़ते हैं तो सभी प्राइवेट अस्पतालों और नर्सिंग होम को फौरन कोविड बेड्स की संख्या बढ़ानी होगी.

दिल्ली सरकार के अस्पतालों और कोविड केयर सेंटर्स में भी कम की गई बेड्स की संख्या-

दिल्ली सरकार के अस्पतालों और कोविड केयर सेंटर्स के लिए जारी किए गए आदेश के मुताबिक दिल्ली सरकार के कुल 20 अस्पतालों और कोविड केयर सेंटर में कोविड बेड और कोविड ICU बेड की संख्या कम करने के बाद कुल रिज़र्व कोविड बेड की संख्या 3000 और कोविड ICU बेड की संख्या 1620 कर दी गई है.

डी-एस्क्लेशन के बाद राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में अब कोरोना के 150 सामान्य बेड और 150 ICU बेड हैं. GTB में 600 सामान्य और 550 ICU बेड्स हैं. और लोकनायक अस्पताल में 700 सामान्य और 700 ICU बेड्स हैं. वहीं, सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र अस्पताल और गुरुनानक आई सेंटर में अब कोविड बेड्स की संख्या शून्य है.

साथ ही, लोकनायक अस्पताल के साथ अटैच किये गए शहनाई बैंक्वेट हॉल में बेड्स की संख्या शून्य कर दी गई है. संत निरंकारी कोविड केयर सेंटर में कोविड बेड्स की संख्या घटाकर 50 कर दी गई है. यमुना स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स में बने कोविड केयर सेंटर में कोविड बेड्स की संख्या घटाकर 50 कर दी गई है. सरदार पटेल कोविड केयर सेंटर छतरपुर में अब कोविड बेड्स की संख्या घटकर 200 है. अक्षरधाम कोविड केयर सेंटर में 50 और गुरुद्वारा रकाबगंज में बने कोविड केयर सेंटर में 100 बेड की संख्या है. 

ट्विटर ने भारत के नक्शे के साथ छेड़छाड़ की, J&K-लद्दाख को अलग देश दिखाया, सरकार ले सकती है बड़ा एक्शन