सूफी इस्लामिक बोर्ड के राष्ट्रीय प्रवक्ता को जान से मारने की धमकी

0

बरेलवी विचारधारा वाले कट्टरपंथियों पर बैन की मांग करने वाले सूफी इस्लामिक बोर्ड के राष्ट्रीय प्रवक्ता सूफी कौसर मजीदी को जान से मारने की धमकी मिली है.

Written By : अमित सिंह | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 09 Jun 2021, 01:46:12 PM

सूफी इस्लामिक बोर्ड के राष्ट्रीय प्रवक्ता को जान से मारने की धमकी (Photo Credit: फाइल फोटो)

कानपुर:

बरेलवी विचारधारा वाले कट्टरपंथियों पर बैन की मांग करने वाले सूफी इस्लामिक बोर्ड ( Sufi Islamic Board ) के राष्ट्रीय प्रवक्ता सूफी कौसर मजीदी को जान से मारने की धमकी मिली है. फोन और सोशल मीडिया के जरिए सूफी कौसर मजीदी को परिवार समेत जान से मारने की धमकी दी गई है. सोशल मीडिया पर सूफी कौसर मजीदी ( Sufi Mohammad Kausar Majeedi ) के खिलाफ आपत्तिनजक टिप्पणियां भी की गई हैं. कट्टरपंथियों ने न्यूज नेशन को भी खबर दिखाने पर धमकी दी है. हालांकि इस मामले में कानपुर के जूही थाने में एफआईआर दर्ज की गई है.

यह भी पढ़ें : जानिए कौन हैं जितिन प्रसाद? अब भाजपा में रह कर ऐसे बनेंगे कांग्रेस का सिरदर्द

सूफी इस्लामिक बोर्ड के राष्ट्रीय प्रवक्ता सूफी कौसर मजीदी ने फेसबुक पर धमकी भरे संदेशों के स्क्रीनशॉट को भी शेयर किया है. उन्होंने फेसबुक पर लिखा, ‘देश खुद फैसला कर देगा कि आज टीवी डिबेट में जो कुछ भी मैंने कहा एक एक शब्द सही था. बरेल्वियत अतिवाद को पार करके आतंकवाद की ओर बढ़ गयी. खादिम लंगड़े और जलाली मरदूद भारत विरोधी बरेलवी पाकिस्तानी आतंकियों के समर्थकों की बरेल्वियत की संस्कृति और सभ्यता के साक्ष्य प्रस्तुत हैं.’

दरअसल, न्यूज नेशन पर कौसर मजीदी ने बरेलवी विचारधारा वाले कट्टरपंथियों पर बैन की मांग की थी. बैन को लेकर सू़फी इस्लामिक बोर्ड ने पीएम समेत गृहमंत्री और सीएम को चिट्ठी लिखी थी. इसके अलावा उन्होंने हाल ही में फेसबुक पर भी लिखा था, ‘बरेल्वियत आतंक की ओर अग्रसर है के सम्बन्ध में सारे साक्ष्य प्रस्तुत किए जा चुके. इससे यह सिद्ध है कि पाकिस्तान के आतंकवादियों के प्रेम में पागल यह फिरका देश को विभाजन की ओर ले जा रहा है. इससे पूर्व भी इस फिरके के उच्च कोटि के मुल्ला गण इस कार्य को निष्पादित कर चुके हैं.’

यह भी पढ़ें : Corona Virus Live Updates : कोरोना दवा 2-डीजी के उत्पादन के लिए DRDO ने कंपनियों को दिया प्रस्ताव

सूफी कौसर मजीदी ने लिखा था, ‘देश अब एक और विभाजन स्वीकार नहीं कर सकता. इसलिए यह आवश्यक है कि प्रत्येक देश वासी इनकी गतिविधियों पर नज़र रखे और इनके तथा पाकिस्तान के महाधूर्त महामूर्ख विवेक शून्य ठुमरी दादरी रसिया सुरमे दानी सम्राट गर्दभ रत्न कबाड़ मानव इलियास पाखंडी के हरे तोतों, जिन्होंने अपना रंग बदल लिया है. पर खास तवज्जो रखें और इनकी सूचना सूफी इस्लामिक बोर्ड तक अथवा स्थानीय प्रशासन को दें.’

उन्होंने आगे लिखा था, ‘मुसलमानों अपने बच्चों की जान बच्चियों की आबरू और अपने माल की हिफाजत करो इन मुल्क दुश्मनों के चक्कर मे अपने बच्चों की जानों को दांव पर न लगाओ. पीएफआई के बहकावे में पहले ही बहुत से नौजवान वक़्त से पहले दुनिया से चले गए. मंचों से गला फाड़ प्रतियोगिता के प्रतियोगी मेहमान कलाकार मदरसों में तुम्हारे बच्चे बच्चियों की इज़्ज़तों को तार तार करने वाले फितरे जकात की परवरिश मुल्क के गद्दारों से अपना ईमान ओ ज़िंदगी दोनों बचाओ.’



संबंधित लेख

First Published : 09 Jun 2021, 01:46:12 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.