2+2 Dialogue: भारत और ऑस्ट्रेलिया पहली टू प्लस टू मीटिंग में चीन पर बरसे, जानें क्या कुछ कहा 

0

India Australia 2+2 Dialogue: भारत और ऑस्ट्रेलिया अपनी पहली टू प्लस टू मीटिंग में चीन पर भी जमकर बरसे. हालांकि, मीटिंग के बाद दोनों देशों के रक्षा और विदेश मंत्रियों ने चीन का नाम तो नहीं लिया, लेकिन इशारों-इशारों में सबकुछ बयां कर दिया.

मीडिया को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि टू प्लस टू वार्ता भारत और ऑस्ट्रेलिया की समग्र रणनीतिक साझेदारी को दर्शाती है. दोनों देशों के बीच जो स्वतंत्र, मुक्त, समेकित और समृद्धशाली इंडो-पैसेफिक क्षेत्र की साझा दृष्टि पर आधारित है. दो लोकतंत्रों (भारत और ऑस्ट्रेलिया) के रूप में पूरे क्षेत्र की शांति और समृद्धि में हमारे समान हित हैं. 

ऑस्ट्रेलिया के रक्षा मंत्री पीटर ड्यूटन ने भी कहा कि दोनों देश (भारत और ऑस्ट्रेलिया) बिना रोक-टोक के व्यापार, अंतर्राष्ट्रीय नियमों एवं कायदों पर कायम रहना और सतत आर्थिक विकास सुनिश्चित करने की बेहद आवश्यकता है. 

आपको बता दें कि दक्षिण चीन सागर में चीन दूसरे देशों के आवागमन और व्यापार को लेकर हमेशा से परेशानियां खड़ी करता आया है. इसके अलावा अंर्तराष्ट्रीय कानूनों का भी पालन नहीं करता है. ऐसे में भारत और ऑस्ट्रेलिया का ये बयान काफी अहम हो जाता है. 

इसी दौरान विदेश मंत्री एस जयशंकर ने चीन को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि ‘क्वाड’ (भारत, ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका और जापान का गठजोड़) एक आधुनिक धारणा हैं और भविष्य की तरफ दृष्टिकोण है. क्वाड वैश्विकरण का स्वरूप है जो दिखाता है कि आज सभी देशों को एक साथ चलने की बेहद जरूरत है. क्वाड में शामिल देश आज कोरोना महामारी के खिलाफ वैक्सीनेशन, सप्लाई चेन और शिक्षा पर जोर देते हैं. इसलिए क्वाड को एशियाई-नाटो कहना गलत धारणा है, क्योंकि नाटो एक शीत-युद्ध की शब्दावली है.

दरअसल, प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ये सवाल पूछा गया था कि भारत और ऑस्ट्रेलिया का चीन के उस आरोप पर क्या कहना है जिसमें वो क्वाड को एशियाई-नाटो करार देता है. एशियाई क्वाड के सवाल पर ऑस्ट्रेलिया की विदेश मंत्री मेरी पायने ने कहा कि क्वाड में हम आज जलवायु परिवर्तन, टेक्नोलॉजी के साथ साथ कोरोना महामारी को लेकर दुष्प्रचार पर भी लगाम लगाने की कोशिश करते हैं. उन्होनें कहा कि ये पूरी तरह से एक राजनियक-गठजोड़ है. 

टू प्लस टू मीटिंग के बाद ऑस्ट्रेलियाई विदेश और रक्षा मंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात की. 

Vijay Rupani First Reaction: जानिए CM पद से इस्तीफ़े के बाद विजय रूपानी की पहली प्रतिक्रिया क्या है

Gujarat New CM: विजय रुपाणी के इस्तीफे के बाद किसे मिलेगी गुजरात के सीएम की कुर्सी? जानिए मुख्यमंत्री पद के संभावित चेहरे