ABP News-C voter Survey: क्या केंद्र को किसानों की मांग मान लेनी चाहिए? जानें ग्रामीण और शहरी जनता ने क्या जवाब दिया है

0

<p style="text-align: justify;"><strong>नई दिल्ली:</strong> कृषि कानूनों को लेकर किसान संगठन दिल्ली के कई बॉर्डर पर 6 महीने से आंदोलन कर रहे हैं. किसानों की मांग है कि केंद्र सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस ले और एमएसपी की गारंटी दे. इस बीच एबीपी न्यूज़ के लिए सी-वोटर ने अपने सर्वे में किसान आंदोलन को लेकर भी जनता का मूड जानने की कोशिश की. कोरोना काल में महीनों से सड़कों पर बैठे किसानों के मुद्दे पर सर्वे में आम लोगों से सवाल किया गया कि क्या किसानों की मांग केंद्र को मान लेनी चाहिए ? जानिए इस पर जनता ने क्या जवाब दिया.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>किसानों की मांग केंद्र को मान लेनी चाहिए ?</strong></p>
<p style="text-align: justify;">इस सवाल पर 44 फीसदी शहरी जनता ने कहा कि सरकार को किसानों की मांग को मान लेना चाहिए और 41 फीसदी ग्रामीण लोगों ने भी हां में जवाब दिया. नहीं कहने वालों में 41 फीसदी शहरी लोग थे और 29 फीसदी ग्रामीण. इसके अलावा पूछे गए सवाल पर 15 फीसदी शहरी लोगों ने कहा कि कह नहीं सकते और 30 फीसदी ग्रामीण लोगों ने भी यही जवाब दिया.</p>
<p style="text-align: justify;">सर्वे के नतीजों से साफ है कि शहरी इलाकों में भी आम लोग किसानों के साथ खड़े हैं और इस आंदोलन का समाधान चाहते हैं.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>नोट: मोदी सरकार को दो साल पूरे हो रहे हैं. इस मौके पर abp न्यूज के लिए सी वोटर ने देश की जनता का मूड जाना है. आज का ये सर्वे देश भर में 1 जनवरी से 28 मई तक किया गया है. सर्वे में 1 लाख 39 हजार 199 लोगों की राय ली गई है. सर्वे में सभी 543 लोकसभा सीटों के लोगों की राय ली गई है. आज के इस कार्यक्रम में स्नैप पोल के भी कुछ सवाल शामिल हैं जो 23 से 27 मई के बीच हुआ है. स्नैप पोल में 12 हजार 70 लोगों की राय शामिल है. देश का मूड और स्नैप पोल में मार्जिन ऑफ एरर प्लस माइनस 3 से प्लस माइनस 5 फीसदी है.</strong></p>