एक हार के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ विकास की बात करने लगे हैं: अखिलेश यादव

88

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उपचुनाव में जीत मिलने के बाद आज फिर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान अखिलेश ने सीधे तौर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को निशाने पर लिया. उन्होंने कहा कि हार के बाद मुख्यमंत्री विकास की बात करने लगे हैं. अखिलेश ने कहा कि उपचुनाव के नतीजों से उत्तर प्रदेश को एक लाभ जरूर हुआ है कि कि सूबे के मुख्यमंत्री अब विकास की बात करने लगे हैं.

गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव में बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) सुप्रीमो मायावती के समर्थन से जीत हासिल करने के बाद से अखिलेश यादव काफी उत्साहित नजर आ रहे हैं. अखिलेश ने कहा कि उनकी भाषा और सोच दूसरी दिशा में जा रही थी. लेकिन हमें अच्छा लगा कि अब वो विकास के कार्यों में रुचि लेने लगे हैं.

यूपी उपचुनाव में मिली बड़ी जीत के बाद समाजवादी पार्टी (एसपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि एसपी-बीएसपी के कार्यकर्ता भी आपस में एक-दूसरे को धन्यवाद दें. योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा उन्होंने कहा कि नौकरी मांगने वालों पर सरकार लाठियां बरसा रही है. यूपी के पूर्व सीएम ने यह भी कहा कि हार के बाद बीजेपी सरकार अब विकास पर रुचि ले रही है.

गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव में बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) सुप्रीमो मायावती के समर्थन से जीत हासिल करने के बाद से अखिलेश यादव काफी उत्साहित नजर आ रहे हैं. कयास लगाए जा रहे हैं कि 2019 में भी बुआ-भतीजा (मायावती-अखिलेश) की जोड़ी साथ आ सकती है.

अखिलेश यादव ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर कहा, ‘यह जीत बड़ी है. हमने बीएसपी को इसके लिए धन्यवाद बोल दिया है. अब दोनों पार्टियों के कार्यकर्ता भी आपस में बातचीत कर एक-दूसरे को बधाई दें.’

वहीं बीजेपी सरकार पर प्रहार करते हुए उन्होंने कहा, यह जीत कई मायनों में खास है क्योंकि उनकी (सरकार) भाषा और सोच भी दूसरी दिशा में जा रही थी. गोरखपुर की जनता ने यूपी सरकार को एक साल पूरा होने पर रिटर्न गिफ्ट दिया है. सरकार ने एक भी वादा पूरा नहीं किया.

शुक्रवार को लखनऊ में बीटीसी अभ्यर्थियों के प्रदर्शन में हुए लाठीचार्ज पर अखिलेश ने कहा, ‘किस तरह पुलिस ने उन पर लाठियां बरसाईं. किस तरह उनके साथ बर्ताव किया गया. उन्हें नियुक्ति का पर्चा इसलिए नहीं मिल रहा क्योंकि हमारी सरकार में उनकी नियुक्ति हुई थी. हम तो कहते हैं आप अपने लोगों को ही नौकरी दे दीजिए. टीईटी वालों को ही नौकरी दे दीजिए.’

अखिलेश ने आगे कहा, ‘वह हम पर आरोप लगा रहे थे कि हम नौकरी नहीं दे रहे. आप तो नौकरी मांगने वालों पर लाठियां बरसा रहे हैं. हाई कोर्ट में पुलिस भर्ती का पूरा रिजल्ट बना रखा है लेकिन सरकार इसे बाहर नहीं ला रही है.’ वहीं अखिलेश ने यह भी कहा कि हार के बाद अब बीजेपी सरकार विकास पर रुचि ले रही है.

इससे पहले बीजेपी नेता स्वामी प्रसाद मौर्य के दामाद नवल किशोर एसपी में शामिल हुए. स्वामी प्रसाद मौर्य बीएसपी छोड़कर बीजेपी में गए थे. इसके अलावा पूर्व एमएलसी प्रदीप सिंह और पूर्व विधायक इरशाद खां सहित कई लोग शनिवार को एसपी में शामिल हुए. अखिलेश ने सभी का स्वागत किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here