नई दिल्ली: अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में पहली बार किसी नर्स के नाम पर एक लैब का नाम रखा गया है. एम्स के एक अधिकारी के अनुसार नर्स राजबीर कौर के नाम पर ब्रोंकोस्कोपी लैबोरेट्री का नामकरण किया गया है.

इस लैब फरवरी में खोला गया है. एम्स के नर्सिंग संघ ने प्रशासन को पत्र लिख कर लैबोरेट्री का नाम ब्रोंकोस्कोपी विभाग में काम करने वाली राजबीर कौर के नाम पर रखने का अनुरोध किया था.

बता दें कि इस नर्स का चिकित्सकीय लापरवाही के कारण एम्स परिसर में निधन हो गया था. राजबीर गर्भवती थी और 16 जनवरी को सामान्य प्रसव के लिए अस्पताल में भर्ती हुई थीं. उसे वहां कुछ समस्याएं हुई जिसके बाद डॉक्टरों ने राजबीर का ऑपरेशन करने का निर्णय लिया. हालांकि उसके बच्चे की मौत हो गयी और उन्हें जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया . बाद में उसकी भी मौत हो गई. एम्स ने मामले की जांच का आदेश दिया जिसमें पता चला कि ऑपरेशन प्रकोष्ठ में सीजेरियन आपरेशन के दौरान एक भी एनेस्थिसियोलॉजिस्ट मौजूद नहीं था और एक जूनियर रेसिडेंट डॉक्टर ने ऑपरेशन किया जिसके पास ऐसे मामलों से निपटने का अधिक प्रशिक्षण नहीं था.

एम्स के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया राजबीर सहकर्मियों और डॉक्टरों के बीच काफी लोकप्रिय थी और ऐसे में लैबोरेट्री का नाम राजबीर के नाम पर रखने का निर्णय लिया गया. राजबीर की मौत पर नर्सिंग यूनियन ने प्रदर्शन किया था जिसके बाद कुछ डॉक्टरों को निलंबित किया गया और फिर हटा दिया गया.

Leave a Reply