नई दिल्ली: अन्ना ने गुरुवार को अनशन खत्म कर दिया है. 23 मार्च से अनशन पर थे अन्ना. अन्ना का कहना है कि सरकार ने लोकपाल पर जल्द निर्णय लेने और राइट टू रिकाल और राइट टू रिजेक्ट के लिए चुनाव आयोग से बात करने का आश्वासन दिया है.

अन्ना ने कहा कि सरकार की तरफ से मुद्दों पर कार्यवाही पर वे सिर्फ 6 महीने तक इंतजार करेंगें और यदि मांगे नही मानी गई तो सितंबर में वह फिर अनशन करेंगें. अन्ना का कहना है कि सरकार ने 15 पृष्ठीय अस्पष्ट ड्राफ्ट भेजकर, उन्हें गुमराह करने की कोशिश की है.

वहीं रामलीला मैदान में अन्ना हजारे का अनशन तुड़वाने पहुंचे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर एक आंदोलनकारी ने जूता फेंका. हालांकि जूता मुख्यमंत्री के नहीं लगा. इसके बाद पुलिस ने आरोपी शख्स को हिरासत में ले लिया.

Leave a Reply