BSP ने संसद के बाहर किया कृषि कानूनों का विरोध, सतीश मिश्रा ने कही ये बात

0

लोकसभा (Lok Sabha) में कांग्रेस, टीएमसी, बसपा और अकाली दल के सांसदों ने महंगाई, किसान आंदोलन और अन्य मुद्दों पर नारेबाजी की और सदन के वेल में पहुंच गए. इससे पीएम मोदी (PM Modi) सरकार के नए मंत्रियों का सदन में परिचय नहीं करा पाए.

News Nation Bureau | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 19 Jul 2021, 12:54:01 PM

Satish Chandra Mishra (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • किसान आंदोलन को लेकर सरकार को घेरेगा विपक्ष
  • सदन के अंदर और बाहर किसानों का समर्थन करेंगे- सतीश मिश्रा
  • सदन के बाहर बीएसपी ने बैनर लेकर नए कृषि कानूनों का विरोध किया

नई दिल्ली:

संसद का मानसून सत्र (Parliament Monsoon Session 2021) शुरू हो गया है. मानसून सत्र में जहां सरकार कई विधेयकों को पारित कराने के एजेंडे के साथ सदन में जाएगी तो वहीं, विपक्ष कोरोना से निपटने और ईंधन की कीमतों में वृद्धि के मुद्दे पर सरकार को घेरने की तैयारी कर रहा है. संसद के मानसून सत्र का आगाज विपक्ष के हंगामे के साथ हुआ. सत्र शुरू होते ही विपक्ष ने महंगाई, पेट्रोलियम पदार्थों के बढ़ते दाम, किसान आंदोलन और पेगासस सॉफ्टवेयर से जासूसी के मामलों को लेकर हंगामा शुरू कर दिया. विपक्ष ने पीएम मोदी के संबोधन को भी सही से नहीं सुना और हंगामा करते रहे. 

ये भी पढ़ें- योगी सरकार बोली- यूपी में नहीं होगी कांवड़ यात्रा तो SC ने बंद किया केस

लोकसभा (Lok Sabha) में कांग्रेस, टीएमसी, बसपा और अकाली दल के सांसदों ने महंगाई, किसान आंदोलन और अन्य मुद्दों पर नारेबाजी की और सदन के वेल में पहुंच गए. इससे पीएम मोदी (PM Modi) सरकार के नए मंत्रियों का सदन में परिचय नहीं करा पाए. हंगामे के बाद लोकसभा (Lok Sabha) को दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया. राज्यसभा (Rajya Sabha) एक घंटे के लिए स्थगित करनी पड़ी. 

किसान आंदोलन को लेकर बीएसपी और अकाली दल समेत कई दलों ने संसद के बाहर भी बैनर लेकर नए कृषि कानूनों का विरोध किया. इस दौरान बीएसपी के राज्यसभा सांसद सतीश चंद्र मिश्रा भी किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए नजर आए. उन्होंने न्यूज नेशन के कैमरे पर कहा कि ये काले कानून हैं. ये किसान के खिलाफ कानून हैं. किसान एक साल से सड़कों में हैं, उनकी नहीं सुनी जा रही है. किसान परेशान हैं, पूरी जनता परेशान हैं. हम इसका विरोध करेंगे. हम इसका अंदर और बाहर दोनों जगहों पर विरोध करेंगे.

वहीं इस सत्र के दौरान केंद्र सरकार वित्त से संबंधित 2 विधेयकों समेत 31 विधेयकों को पेश कर सकती है. पीएम नरेंद्र मोदी ने संसद को संबोधित करते हुए कहा कि महामारी पर संसद में सार्थक चर्चा होनी चाहिए. साथ ही पीएम मोदी ने जानकारी दी कि वह मंगलवार की शाम को सदन को कोविड पर विस्तृत जानकारी भी दे सकते हैं. कृषि कानून के विरोध में विपक्ष ने संसद भवन में प्रदर्शन किया.

ये भी पढ़ें- पेगासस प्रोजेक्ट : करीब पूरी दुनिया पर जासूसी कर सकता है ये साफ्टवेयर

मानसून सत्र में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संसद पहुंचे. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वैक्सीन लगवाने वाले लोग बाहुबली बन गए. आप भी वैक्सीन लगवा कर बाहुबली बनें. साथ ही कहा कि कोरोना काल में सदन में सार्थक चर्चा के लिए समर्पित हो. कहा कि सभी माननीय तीखे से तीखे सवाल पूछें ताकि जनता को उसके सवालों का जवाब मिल सके. साथ ही अपील की कि धारदार सवाल पूछें, लेकिन सरकार को जवाब देने का मौका भी दें.



संबंधित लेख

First Published : 19 Jul 2021, 12:24:23 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.