CBSE पेपर लीक मामला: प्रकाश जावड़ेकर ने कहा मैं भी अभिभावक हूं, दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

98

नई दिल्ली: सीबीएसई पेपर लीक मामले पर गुरुवार को केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने दुख जताया. उन्होंने कहा-“मैं पैरेंट्स और स्टूडेंट्स का दर्द समझ सकता हूं.

बता दें कि 13 दिन से पेपर लीक की खबरें नकार रहे सीबीएसई ने बुधवार को आखिर मान लिया था कि पेपर लीक हुए हैं. इसके बाद 10वीं का गणित और 12वीं के इकोनॉमिक्स की परीक्षा रद्द कर दी गई. बताया गया कि नई तारीखें हफ्तेभर में सीबीएसई की वेबसाइट पर डाल दी जाएंगी.

इस मामले में मोदी ने नाराजगी जताई और जावड़ेकर को सख्त एक्शन लेने के लिए कहा है. जावड़ेकर ने कहा कि यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है. मैं अभिभावकों और विधार्थियों के दर्द को समझ सकता हूं. मैं भी नहीं सो सका, मैं भी एक अभिभावक हूं. इस पेपर लीक मामले में जो भी दोषी होंगे, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा.

मानव संसाधन मंत्री जावड़ेकर ने कहा कि पुलिस जल्द ही दोषियों को अपनी गिरफ्त में लेगी. जिस तरह से पुलिस ने एसएससी के मामले में पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया है, वैसे ही इसमें भी गिरफ्तारी होगी. उन्होंने आगे कहा कि सीबीएसई की तारीफ सुप्रीम कोर्ट भी कर चुका है, हम इसकी तह तक जाएंगे. हम इस बात को सुनिश्चित करेंगे कि आगे से ऐसी कोई धोखाधड़ी नहीं होगी. हम सिस्टम में सुधार करेंगे. उन्होंने कहा कि सीबीएसई जल्द ही सोमवार या मंगलवार को नई तारीखों की घोषणा करेगा.

इससे पहले प्रकाश जावड़ेकर ने कहा था कि’ ऐसी कोई लीक नहीं हो, यह सुनिश्चित करने के लिये एक नयी व्यवस्था सोमवार से लागू हो जायेगी. सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि कोई अन्याय नहीं हो. उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि पेपर लीक होने की खबरों से उन्हें काफी दुख हुआ है, साथ ही जोर दिया कि उन्हें भरोसा है कि पुलिस जांच करेगी और दोषियों को पकड़ लेगी.’

हालांकि, इसे लेकर अब सीबीएसई और प्रशासन हरकत में दिख रहा है. सीबीएसई की 12वीं कक्षा की अर्थशास्त्र का पेपर तथा 10वीं कक्षा की गणित का पर्चा कथित रूप से लीक होने के मामले में अब ज्वाइंट कमिश्नर के नेतृत्व में एसआईटी जांच करेगी. इससे पहले दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने मामला दर्ज कर इसकी जांच शुरू की थी और कई जगहों पर छापे मारी भी की थी. दिल्ली में बुधवार की देर रात 8 जगहों पर छापेमारी की गई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here