नई दिल्ली: लंबे अंतराल के बाद छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को सत्ता हासिल हुई है। इसके साथ ही भूपेश बघेल राज्य के मुख्यमंत्री बने और टीएस सिंहदेव व ताम्रध्वज साहू ने मंत्री पद की शपथ ली। बता दें, आज कांग्रेस के लिए एक बड़ा दिन है। जहां पूरा देश क्रिसमस यानी बड़े दिन का त्योहार मना रहा है, वहीं दूसरी तरफ छत्तीसगढ़ में नई सरकार के मंत्री शपथ ली।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने साजा से विधायक रवींद्र चौबे, प्रतापपुर से विधायक प्रेम साय सिंह, कवर्धा से विधायक मोहम्मद अकबर, कोंटा के विधयक कवासी लखमा, आरंग से विधायक शिवकुमार डहरिया, डौंडीलोहरा से विधायक अनिता भेड़िया, कोरबा से विधायक जय सिंह अग्रवाल, अहिवारा से विधायक गुरु रुद्र कुमार और खरसिया से विधायक उमेश पटेल को मंत्री पद की शपथ दिलाई। वहीं कार्यक्रम में बड़ी संख्या में कांग्रेस नेता और नए मंत्रियों के परिजन और समर्थक शामिल हुए।

मंत्रिमंडल में एक महिला भी मंत्री बनी हैं। हालांकि पहले 10 मंत्री शपथ लेने वाले थे लेकिन प्रबल दावेदारों में एक पद के सहपति नहीं बन पाने के कारण फिलहाल एक पद को रिक्त रखा गया है। वहीं सुकमा जिले से पहली बार कोई मंत्री बना है जिसकी वजह से जिले के लोगों में खुशी की लहर देखी जा सकती है। शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पीएल पुनिया स​मेत कई वरिष्ठ कांग्रेस नेता शामिल हुए।

बता दें मंत्रिमंडल में जातिगत समीकरण को काफी महत्व दिया गया है इसलिए इसमें तीन आदिवासी, दो सतनामी समाज, ओबीसी से मंत्री सहित कुल चार अल्पसंख्यक से 1 और सामान्य से दो मंत्री शामिल हैं।

भूपेश मंत्रिमंडल में पहली बार बने विधायकों को कोई जगह नहीं दी गई है। इनमें आदिवासी समाज के तीन मंत्री, सतनामी समाज के 2 मंत्री शामिल हैं।

Leave a Reply