CM योगी आदित्यनाथ ने किसानों के लिए खोला खजाना, जानें यहां

0

किसानों के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने खजाना खोल दिया है. मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सालाना बजट से ज्यादा किसानों को दिया है. विभिन्न मदों में रिकार्ड छह लाख 80 हजार 708 करोड़ रुपये का भुगतान किसानों को किया गया है.

| Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 03 Aug 2021, 08:04:59 PM

CM योगी आदित्यनाथ ने किसानों के लिए खोला खजाना (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सालाना बजट से ज्यादा किसानों को दिया
  • छह लाख 80 हजार 708 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया

:

किसानों के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने खजाना खोल दिया है. मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सालाना बजट से ज्यादा किसानों को दिया है. विभिन्न मदों में रिकार्ड छह लाख 80 हजार 708 करोड़ रुपये का भुगतान किसानों को किया गया है. पिछली सरकारों की तुलना में कई गुना धनराशि किसानों को साढ़े चार साल में दी गई है. पहली बार गन्ना किसानों को एक लाख 40 हजार करोड़ से अधिक का भुगतान किया गया है. रमाला, पिपराइच, मुण्डेरवा चीनी मिलों सहित 20 चीनी मिलों का आधुनिकीकरण और विस्तार किया गया है. किसान सम्मान निधि में ढाई लाख किसानों को साढ़े 32 हजार करोड़ दिए गए हैं.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 433.86 लाख मीट्रिक टन अनाज की खरीद कर 78,23,357 किसानों को 78,000 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है. प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में 25 लाख से अधिक किसानों को 2,208 करोड़ रुपये की क्षतिपूर्ति दी गई है. किसानों को तीन लाख 92 हजार करोड़ रुपये का फसली ऋण का भुगतान किया गया है. 36 हजार करोड़ रुपये से 86 लाख किसानों का ऋण माफ किया गया है. उत्तर प्रदेश में 3.77 लाख हेक्टेयर अतिरिक्त सिंचाई क्षमता में बढ़ोत्तरी की गई है. 46 वर्षों से लंबित बाण सागर परियोजना को पूरा किया गया है.

कोरोना वैक्सीनेशन में यूपी ने रचा इतिहास

वहीं, देश में उत्तर प्रदेश ने कोरोना वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) को लेकर इतिहास रचा है. टीके के पांच करोड़ से अधिक डोज लगाने वाला देश का पहला राज्य यूपी बन गया है. चार करोड़ से अधिक लोगों को टीके की पहली डोज लगी है. मंगलवार को एक दिन में करीब 20 लाख लोगों को टीका लगाया गया है. ट्रेस, टेस्ट, ट्रीट के साथ आंशिक कोरोना कर्फ्यू और सर्वाधिक टीकाकरण का बड़े पैमाने पर असर हो रहा है. 

यूपी में अग्रेसिव टेस्टिंग, माइक्रो कंटेनमेंट जोन, गांवों में निगरानी समितियों के माइक्रो मैनेजमेंट और ट्रीटमेंट ने कोरोना को काबू किया है. 25 करोड़ की आबादी वाले उत्तर प्रदेश में कोरोना के महज 672 एक्टिव केस हैं. यूपी में जितने कुल केस, उससे कई गुना ज्यादा दूसरे देशों और राज्यों में रोज मामले आ रहे हैं.



संबंधित लेख

First Published : 03 Aug 2021, 08:04:59 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.