नई दिल्ली। कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए ज्‍यादातर देशों में लॉकडाउन (Lockdown) का सहारा लिया जा रहा है. ऐसे में लोग घरों में कैद होने को मजबूर हो गए हैं. एक तरफ कोरोना का डर है तो दूसरी तरफ घर में बंद रहने की छटपहाट के कारण लोगों के पारिवारिक जीवन में भी उथल-पुथल हो रही है. हाल में अमेरिका (US) में घरेलू हिंसा के मामलों में वृद्धि की कई रिपोर्ट आईं. ये हाल सिर्फ अमेरिका का ही नहीं है. दुनिया के ज्‍यादातर हिस्‍सों में लोगों के आपसी संबंध तनावपूर्ण हो गए हैं.

जापान (Japan) में वैश्विक महामारी (Pandemic) को काबू करने के लिए कई क्षेत्रों में इमरजेंसी घोषित कर दी गई है. इसी बीच सोशल मीडिया पर ‘कोरोना डायवोर्स’ (Corona Divorce) ट्रेंड कर रहा है. दरअसल, हर वक्‍त घर में रहने को मजबूर होने से पैदा होने वाले तनाव का आपसी संबंधों पर बुरा असर हो रहा है. पतियों की मांगों से तंग पत्नियां अपनी फ्रस्‍ट्रेशन ट्विटर पर जाहिर कर रही हैं. इससे पहले चीन (China) समेत कई देशों में भी तलाक के मामलों में वृद्धि की रिपोर्ट्स आई थीं.

जापान में इससे पहले 1980 में ‘नारीता डायवोर्स’ (Narita Divorce) टर्म काफी प्रचलित हुआ था. दरअसल, उस दौरान एक कपल हनीमून से नारीता एयरपोर्ट पर लौटा और दोनों तुरंत तलाक देकर अलग हो गए. उनका कहना था कि हम दोनों में कुछ भी समाना नहीं है. ऐसे में अलग हो जाना ही बेहतर विकल्‍प है. एक अनुमान के मुताबिक, जापान तकरीबन 35 फीसदी शादीशुदा लोग बहुत जल्‍द अलग हो जाते हैं. हालांकि, अमेरिका में इससे ज्‍यादा करीब 45 फीसदी और ब्रिटेन में 41 फीसदी कपल तलाक लेकर अलग हो जाते हैं.

Leave a Reply