नई दिल्ली: दिल्ली मुख्य सचिव विवाद के बाद तीस हजारी कोर्ट ने आप के दो विधायकों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा दिया था. वहीं, कोर्ट आज आप विधायक प्रकाश जारवाल और अमानतुल्ला खान की जमानत पर सुनवाई कर सकता है.

सूत्रों के मुताबिक इसके बाद आम आदमी पार्टी के विधायकों की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं. वीके जैन ने कोर्ट में जो बयान दर्ज कराया है, उसके मुताबिक वह वारदात की रात जब केजरीवाल के आवास पर पहुंचे तो वहां पर मुख्य सचिव अंशु प्रकाश मौजूद थे.

उनके साथ बदसलूकी और मारपीट हो रही थी.बयान में यह भी कहा गया है कि इस मारपीट में अंशु प्रकाश का चश्मा भी जमीन पर गिर पड़ा. यह सब मुख्यमंत्री केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की मौजूदगी में हुआ.

बता दें कि विधायक अमानतुल्ला खान और प्रकाश जारवाल को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है. दोनों ने ही अब जमानत के लिए गुहार लगाई है. अमानतुल्ला और प्रकाश जारवाल ने मुख्यसचिव से मारपीट से इनकार किया है. उन्होंने कहा कि मारपीट के आरोप किसी साजिश के तहत लगाए जा रहे हैं. इस बीच, दिल्ली पुलिस ने दोनों को जमानत नहीं देने की अपील की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here