लखनऊ:  उत्तर प्रदेश के दुधवा राष्ट्रीय उद्यान को छह महीने के अंतराल के बाद गुरुवार को खोल दिया गया। यह उद्यान देशी व विदेशी दोनों पर्यटकों के लिए बड़े आकर्षण का केंद्र है और जाड़े में यहां ज्यादा सैलानी आते हैं।

उद्यान को हर साल आम लोगों के लिए 15 मई को बंद कर दिया जाता है और फिर इसे 15 नवंबर को खोला जाता है।

बीते कुछ सालों से राज्य सरकार उद्यान के रखरखाव पर ज्यादा ध्यान दे रही है और इसमें काफी बदलाव किए गए हैं।

ये भी पढ़ें-  कमल हासन की छोटी बेटी अक्षरा हासन की प्राइवेट तस्वीरें लीक

जंगल में एक या दो रात बिताने की चाह रखने वालों के लिए नई थारू झोपड़िया लोगों के आकर्षण का प्रमुख केंद्र हैं।

अधिकारी ने कहा कि अपनी जैव विविधता के लिए मशहूर उद्यान में ठंड के महीनों के दौरान 500 से ज्यादा पक्षियों की जातियां यहां आती हैं।

वन्यजीव जानकार उमेश गुप्ता ने आईएएनएस से कहा कि साइबेरियन पक्षी 14,000 किमी की यात्रा कर जाड़े के दिनों में दुधवा आते हैं।

इसके अलावा पक्षियों की अन्य दुर्लभ प्रजातियां, बाघ, तेंदुए, गैंडा, मगरमच्छ, हाथी, साही, जंगली सुअर व भालू भी राष्ट्रीय उद्यान में मौजूद हैं।

Leave a Reply