इलाहाबाद: हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षाओं में नकल माफियाओं पर सख्ती बरतने के बाद यूपी बोर्ड कॉपियों के मुल्यांकन में भी सख्ती बरतने की तैयारी पूरी कर चुकी है. वहीं शनिवार से की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन शनिवार से शुरू हो गयी. इसी के साथ नकल माफिया पर अंकुश लगाने को एलआइयू और एसटीएफ तक को सक्रिय किया गया है.

इसके लिए प्रदेश भर में एक लाख 46 हजार 275 परीक्षक लगाए गए हैं और तय केंद्रों पर अधिकांश कॉपियां पहुंचने का दावा किया गया है. परीक्षक कॉपियां जांचने के नाम पर इधर-उधर घूम नहीं सकेंगे और न ही बिना कार्य किए उपस्थित हो सकेंगे. इसके लिए पहली बार सीसीटीवी कैमरे से निगरानी होगी और हर दिन हर परीक्षक की हाजिरी ऑनलाइन भेजी जाएगी.

आपको याद दिला दें कि परीक्षा के दौरान ही बोर्ड मुख्यालय ने उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन की तैयारी की. प्रदेश भर के 247 केंद्रों पर हाईस्कूल के लिए 82123 व इंटर के लिए 64152 परीक्षक लगाए गए हैं, जो हाईस्कूल की 2 करोड़ 17 लाख सात हजार 879 और इंटर की 2 करोड़ 90 लाख 84 हजार 556 समेत कुल 5 करोड़ सात लाख 92 हजार 435 कॉपियां जांचेंगे. सभी मूल्यांकन केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे पहले से लगे हैं.

Leave a Reply