Fake Currency Case: दिल्ली में बरामद नकली नोटों का क्या है ISI कनेक्शन, पढ़ें पूरी खबर

0

Fake Currency Case: दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल ने आईएसआई (ISI) के इशारे पर भारत में नकली नोटों की खेप सप्लाई कर रहे दो लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने उत्तर प्रदेश के संभल के रहने वाले कमरे आलम और दिल्ली के रहने वाले ज़ाकिर के पास से 4 लाख रुपये के नकली नोट बरामद किए. ये सभी नोट 100 और 200 रुपये के नोट थे.

पुलिस के मुताबिक ये दोनों दुबई में बैठे सारिक उर्फ सट्टा के संपर्क में थे और आईएसआई सारिक के जरिये ही हिंदुस्तान में नकली नोटों की खेप भेज रहा था. पुलिस सूत्रों के मुताबिक सारिक उर्फ सट्टे उत्तर प्रदेश का ही रहने वाला है. और हिंदुस्तान में ये चोरी की लग्जरी गाड़ियों को खरीदने का काम करता था. हिंदुस्तान में इसके ऊपर 50 से ज्यादा चोरी, लूट और डकैती के मुकदमे दर्ज हैं. यूपी पुलिस ने इसके ऊपर एनएसए भी लगाया था.

पाकिस्तान में बैठे इकबाल काना के जरिये पहुंचते थे नकली नोट

दिल्ली पुलिस के मुताबिक सारिक उर्फ सट्टे जमानत पर बाहर आने के बाद दुबई निकल गया था. जहां पर वो आईएसआई के संपर्क में आया और फिर हिंदुस्तान में नकली नोट सप्लाई करने के सिंडिकेट में शामिल हो गया. सारिक उर्फ सट्टे पाकिस्तान में बैठे इकबाल काना के संपर्क में था. और वहीं इसे नकली नोट सप्लाई करता था. पुलिस सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तान में बैठा इकबाल काना ही सारिक उर्फ सट्टे तक नकली नोट पहुंचाता था. जिसके बाद ये खेप हिंदुस्तान पहुंचती थी. इक़बाल काना भी उत्तर प्रदेश के कैराना का रहने वाला है.

इकबाल सालों पहले पाकिस्तान निकल गया था. जहां आईएसआईएस ने उसे नकली नोटों को सप्लाई करने की ज़िम्मेदारी दी थी. इकबाल काना का नाम बिहार में हुए पार्सल ब्लास्ट में भी सामने आया था. अब पुलिस इनसे पूछताछ कर हिंदुस्तान में मौजूद इनके नेटवर्क की तलाश कर रही है.

Narayan Rane Case: नारायण राणे के बेटे ने शेयर किया ‘राजनीति’ का वीडियो क्लिप, शिवसेना पर हमला

Narayan Rane News: हाई कोर्ट पहुंचे नारायण राणे, याचिका में अपने ऊपर दर्ज FIR को रद्द करने की अपील की