पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने ली अंतिम सांस

22

नई दिल्ली : भारत के तीन बार प्रधानमंत्री रहे और देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का लंबी बीमारी के बाद गुरुवार को निधन हो गया. वाजपेयी ने 93 साल की उम्र में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में अंतिम सांस ली.

पूर्व प्रधानमंत्री पिछले कई सालों से बीमार चल रहे थे. 25 दिसंबर 1924 को पैदा हुए वाजपेयी ने 1942 में भारत छोड़ो आंदोलन के दौरान राजनीति में प्रवेश किया था और राजनीतिक संघर्षों के बाद तीन बार देश के प्रधानमंत्री बने. राजनाथ सिंह ने अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की पुष्टि की.

किडनी में संक्रमण, छाती में संकुचन और पेशाब संबंधी परेशानी की वजह से वाजपेयी को गत 11 जून को एम्स में भर्ती कराया गया था. एम्स में भर्ती वाजपेयी की तबीयत गत शनिवार को ज्यादा बिगड़ गई. इसके बाद उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया.

पूर्व प्रधानमंत्री की तबीयत बिगड़ने की खबर मिलते ही उनका हालचाल जानने के लिए नेताओं का तांता लग गया. भाजपा के वरिष्ठ नेता एलके आडवाणी, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, वेंकैया नायडू ने अस्पताल जाकर उनके अंतिम दर्शन किए. विपक्ष के कई नेता भी वाजपेयी का देखने के लिए अस्पताल पहुंचे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here