रंगों का त्योहार होली. जिसे आप बड़े चाव से मनाते हैं. एक दूसरे को रंग लगाते हैं. लेकिन रंगो से त्वचा पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव से बचने के क्या करते हैं? आज हम आपको इसके बारे में कुछ बताएंगे जिसकी मदद से आप इस बार की होली और बेहतर और सुरक्षित मना पाएंगे. इस बार होली में आप हर्बल कलर का उपयोग करें. साथ ही ये सुझाव भी.

रंगो से सजे बाजार में इस समय भारी मात्रा मे केमिकल युक्त रंग खूब बिक रहे हैं. लोग भी रंगों को बिना परखे खरीदते रहे हैं. ऐसे में डॉक्टर अजय दीक्षित की मानें तो केमिकल युक्त रंग आंखों से लेकर पूरे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं. केमिकल रंगों में क्रोमियम, रेड आक्साइड, मरकरी ऑक्साइड होते हैं. जिनसे अस्थमा और किडनी फेल होने के साथ-साथ एलर्जी का भी बड़ा खतरा बना रहता है.

डॉक्टरों की माने तो महिलाओं को खासकर होली में केमिकल रंगों से सावधान रहने की आवश्यकता हैं. रंगों की होली चेहरे का रंग ना बिगाड़ दे इसके लिए सिर्फ हर्बल कलर का ही प्रयोग करें.

एक डॉक्टर ने हमें बताया कि बाजारों में खुले में बिक रहे रंगों का बिल्कुल भी प्रयोग ना करें. होली खेलने से पहले महिलायें अपने चेहरे और शरीर पर तेल की मालिश कर लें. जिससे रंग का असर नहीं हो. साथ ही गर्भवती महिलाओं को होली खलने से बचना चाहिए.

ऐसे में गर्भवती महिला को रंगो से अगर कोई दिक्कत होती है तो उसको दवाइयां भी नहीं दी जा सकती हैं. डॉक्टरों ने सलाह दी कि रंग लगने के बाद स्वास्थ्य या फिर त्वचा में कोई भी परेशानी आये तो तुरंत डॉक्टर का सलाह लें.

Leave a Reply