नई दिल्ली: जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्रसंघ चुनाव में शुक्रवार को लगभग 70 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। यह जेएनयू छात्रसंघ चुनाव में अबतक का सर्वाधिक मतदान प्रतिशत है।

निर्वाचन समिति की तरफ से प्राप्त जानकारी के अनुसार, कुल 7,650 वोटों में से 5,185 वोट डाले गए।अनअधिकारिक सूत्रों के अनुसार, यह पहला मौका है जब इतनी बड़ी संख्या में छात्रसंघ चुनाव में मतदान किया है।

चुनाव अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, महासचिव और संयुक्त सचिव पदों के लिए हुए। मौजूदा समय में सभी चारों पदों पर क्रमश: वाम दल की गीता कुमारी, सिमोन जोया खान, दुग्गीराला श्रीकृष्णा और शुभांशु सिंह काबिज हैं।

इस साल अध्यक्ष पद के लिए आठ उम्मीदवार मैदान में हैं। आइसा, एआईएसएफ, एसएफआई और डीएसएफ ने इस साल गठबंधन के तहत अंतर्राष्ट्रीय अध्ययन के विद्यार्थी एन. साई बालाजी को अध्यक्ष पद के लिए अपना संयुक्त उम्मीदवार बनाया है।राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से संबद्ध विद्यार्थी शाखा, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) अध्यक्ष पद के लिए ललित पांडे को अपना उम्मीदवार बनाया है।

कांग्रेस समर्थित भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) ने विकास यादव को अपना अध्यक्ष उम्मीदवार बनाया है, जो इनर एशियन स्टडीज के विद्यार्थी हैं। यादव पिछले शुक्रवार अपनी उम्मीदवारी गंवाते-गंवाते बच गए, जब विश्वविद्यालय की शिकायत निवारण समिति उनके नामांकन को रद्द करने की सिफारिश की थी।

निर्वाचन समिति ने हालांकि इस सिफारिश को खारिज कर दिया था। अध्यक्ष पद के एक अन्य उम्मीदवार लालू प्रसाद के राष्ट्रीय जनता दल राजद के छात्र शाखा के जयंत कुमार हैं। चुनाव परिणाम शनिवार को घोषित किए जा सकते हैं।

Leave a Reply