MP: झरने में आई बाढ़ में फंसे 45 लोग सुरक्षित, 6 अब भी लापता

5

शिवपुरी: मध्यप्रदेश के सुल्तानगढ़ के झरने का अचानक जलस्तर बढ़ने से पिकनिक मनाने आए लोग जल प्रवाह के बीच फंस गए थे. राहत एवं बचाव दल ने करीब 45 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया है जबकि छह लापता बताए जा रहे हैं.

शिवपुरी के पुलिस अधीक्षक राजेश हिंगणकर ने गुरुवार को आईएएनएएस को बताया, “देर रात लगभग तीन बजे तक चले राहत एवं बचाव दल ने 45 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया. पांच लोगों को हेलीकॉप्टर और शेष को रस्से (मोटी रस्सी) की मदद से पानी के प्रवाह के बीच से निकाला. छह लोगों के लापता होने की ग्वालियर में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है.”

 

राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह और निर्मला सीतारमण के प्रति आभार जताया है, जिन्होंने राहत और बचाव कार्य में मदद मुहैया कराई.

 

गौरतलब है कि बुधवार को स्वतंत्रता दिवस के अवकाश के कारण बड़ी संख्या में लोग शिवपुरी जिले के मोहना स्थित सुल्तानगढ़ झरने पर पिकनिक मनाने गए थे. कुछ लोग चट्टान पर चढ़कर तस्वीरें खिचा रहे थे कि तभी बारिश का पानी आने से जलस्तर बढ़ गया और झरने के बीच खड़े 34 लोग पानी में फंस गए. वहीं, 15 से ज्यादा लोग बह गए.

झरने के पानी में पर्यटकों के फंसे होने की सूचना के कई घंटे बाद प्रशासन ने राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर पाया. ग्वालियर से वायुसेना के हेलीकॉप्टर ने पांच लोगों को निकाला. अंधेरा होने के कारण दोबारा हेलीकॉप्टर नहीं आ पाया.

उसके बाद बीएसएफ, एसडीआरएफ के दल राहत और बचाव कार्य में लगे मगर पानी का प्रवाह तेज होने के कारण रात 12 बजे तक राहत और बचाव कार्य थमा रहा. जलस्तर थोड़ा कम होने पर राहत और बचाव दल ने रस्सों की मदद से चट्टान पर बैठे लोगों को सुरक्षित निकाल लिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here