Maharashtra: राज्य में बढ़ रहे हैं डेल्टा प्लस वेरिएंट के मरीज, आकंड़ा 76 पर पहुंचा

0

<p style="text-align: justify;"><strong>मुंबईः</strong> महाराष्ट्र में कोरोना के मामलों लगातर बढ़ोतरी देखने को मिल रही है. वहीं डेल्टा वैरिएंट का खौफ भी बढ़ता जा रहा है. राज्य में सोमवार को डेल्टा वैरिएंट के 10 मरीज सामने आए. नए मरीजों के सामने आने के बाद राज्य में इनकी संख्या बढ़कर 76 पहुंच गई है. इनमें छह मीरज कोल्हापुर से जबकि रत्नागिरी से तीन और सिंधुदुर्ग से एक मामला सामने आया है. इस दौरान राज्य में डेल्टा वैरिएंट से पांच लोगों की मौत हो गई है.</p>
<p style="text-align: justify;">राज्य में डेल्टा वैरिएंट से पीड़ित 76 मरीज सामने आए हैं उनमें से 10 लोगों ने कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज लगवा लिए थे जबकि 12 लोगों ने सिंगल डोज लगवाया था. इन मरीजों में 39 महिला जबकि नौ बच्चे शामिल हैं जिनकी उम्र 18 साल से कम है.</p>
<p style="text-align: justify;">डेल्टा वैरिएंट से पीड़ित 39 मरीजों की उम्र 19 साल से लेकर 45 साल के बीच है. वहीं 19 लोगों की उम्र 46 से 60 के बीच है जबकि नौ लोगों की उम्र 60 साल से ऊपर है. राज्य के स्टेट सर्विलांस ऑफिसर डॉक्टर प्रदीप अवाटे ने बताया, ”37 लोगों में माइल्ड संक्रमण है.”</p>
<p style="text-align: justify;">डेल्टा वैरिएंट को ट्रैक करने के लिए, महाराष्ट्र ने जांच तेज कर दी है. सीएसआईआर-इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी की ओर से 10,000 से अधिक नमूनों का परीक्षण किया गया है.</p>
<p style="text-align: justify;">डॉक्टर अवाटे ने कहा, "किसी भी राज्य ने सक्रिय रूप से जीनोमिक निगरानी के लिए इतने नमूने नहीं भेजे हैं और इसका परिणाम खतरनाक स्थिति की ओर संकेत नहीं दे रहा है.”</p>
<p style="text-align: justify;"><a title="केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, कोविड-19 रैपिड एंटीजेन टेस्टिंग किट के निर्यात पर लगी रोक&nbsp;" href="https://www.abplive.com/news/india/government-bans-export-of-covid-19-rapid-antigen-testing-kit-1954840" target=""><strong>केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, कोविड-19 रैपिड एंटीजेन टेस्टिंग किट के निर्यात पर लगी रोक</strong></a></p>