नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को विपक्षी पार्टियों पर निशाना साधा और कहा कि 2019 लोकसभा चुनावों के लिए महागठबंधन बनाने की कोशिश कर रही कांग्रेस आईसीयू में है और महागठबंधन की पार्टियां उसके लिए ‘सपोर्ट सिस्टम’ हैं. मोदी ने कांग्रेस पर यह हमला जयपुर (ग्रामीण), नवादा, गाजियाबाद, हजारीबाग और अरुणाचल पश्चिम संसदीय क्षेत्र के बूथ स्तरीय भाजपा कार्यकर्ताओं से वीडियो संवाद में किया.

महागठबंधन बनाने के विपक्ष के प्रयास के बारे में अरुणाचल प्रदेश के एक भाजपा कार्यकर्ता के सवाल का जवाब देते हुए मोदी ने कहा कि यह विपक्षी एकता का मामला नहीं है, बल्कि ‘महागठबंधन’ के नाम पर कुछ राजनीतिक पार्टियों द्वारा ब्रांडिंग का प्रयास किया जा रहा है.

उन्होंने कहा, “महागठबंधन कोई रिश्तों का बंधन नहीं है बल्कि यह कुछ अवसरवादी राजनीतिक पार्टियों द्वारा अपनी कमजोरियों को छुपाने का प्रयास है.” प्रधानमंत्री ने कहा कि महागठबंधन में नेतृत्व और नीति को लेकर भ्रम की स्थिति है. उनका इरादा भ्रष्ट है.मोदी ने कहा, “उनका उद्देश्य केवल मोदी हटाओ, मोदी हटाओ, मोदी हटाओ है, जबकि हमारी प्रतिबद्धता विकास को आगे बढ़ाना है.”

उन्होंने कहा, “कुछ वर्ष पहले, कांग्रेस ने मध्य प्रदेश में एक प्रस्ताव पारित कर कहा था कि पार्टी कभी गठबंधन नहीं करेगी. अब आज इसकी क्या वजह है कि वह किसी भी राजनीतिक पार्टी के साथ गठबंधन करने के लिए तैयार है. आज वे कह रहे हैं..मुझे बचाओ.”

मोदी ने कहा, “जब एक रोगी आईसीयू में रहता है, उसे अलग तरह का सपोर्ट सिस्टम दिया जाता है ताकि वह जीवित रहे. कांग्रेस खुद को बचाने के लिए राजनीतिक पार्टियों का एक सपोर्ट सिस्टम तैयार कर रही है. कांग्रेस के लिए महागठबंधन में शामिल पार्टियां केवल एक सपोर्ट सिस्टम है, ताकि वे कांग्रेस को आईसीयू से निकाल सकें.”

प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस द्वारा महागठबंधन बनाने के प्रयास से 2019 लोकसभा चुनाव में भाजपा को कोई फर्क नहीं पड़ेगा. विपक्षी पार्टियां भाजपा से इतना डरी हुई हैं कि उन्हें लगता है कि वे अकेले-अकेले भाजपा को नहीं हरा पाएंगी. इसीलिए यह मेल मिलाप हो रहा है.

उन्होंने कहा, “वे लोग नामदार हैं और हमलोग कामदार हैं. उनका उद्देश्य एक परिवार का कल्याण है और हमारा उद्देश्य देश का कल्याण है. देश इन मुद्दों पर उनका आंकलन करने जा रहा है..भाजपा कार्यकर्ता होने के नाते इससे हमें कोई फर्क नहीं पड़ता की विपक्षी क्या कर रहे हैं.”