भारत के मुसलमान के एक हाथ में कुरान है और दूसरे हाथ में कंप्यूटर है: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

94

नई दिल्ली: दिल्ली के विज्ञान भवन में इस्लामिक हेरिटेज पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभा को संबोधित किया. इस्लामिक स्कॉलर कार्यक्रम में संबोधित करते हुए कहा कि भारत ने दुनिया को अमन की राह दिखाई. यहां हर धर्म की खुशबू है.

उन्होंने कहा कि इस्लाम की सच्ची पहचान बनाने में जॉर्डन नरेश की अहम भूमिका है. जॉर्डन और भारत के बीच इतिहास-धर्म का रिश्ता है. पीएम मोदी ने भारत के अनेक मजहबों को लेकर अपने विचार रखे. उन्होंने कहा कि जॉर्डन नरेश की मौजूदगी गर्व का विषय है और उनकी पहल सराहनीय है.

जॉर्डन के किंग अब्दुल्ला द्वितीय पीएम मोदी के निमंत्रण पर भारत के तीन दिवसीय दौरे पर हैं. इस मौके पर जॉर्डन नरेश ने कहा कि पूरी दुनिया एक परिवार है. दया और सहिष्णुता ही हमारे मूल्य हैं.

इस कार्यक्रम में पीएम ने कहा कि सांस्कृतिक विविधता ही हमारी पहचान है. देश में मंदिर में दिया भी जलता है तो मस्जिद में सजदा भी होता है. गुरुद्वारे में सबद गाई जाती है तो चर्च में प्रार्थना भी की जाती है.

पीएम मोदी ने कहा दिल्ली सूफियाना कलामों की सरजमीं है. दुनिया के सभी धर्म भारत में पले-बढ़े हैं. भारत ने दुनिया को अमन की राह दिखाई है. वहीं दिल्ली मान्यताओं के मुताबिक इंद्रप्रस्थ है. उन्होंने कहा कि हमारी विविधताओं पर हमें गर्व है. हम हिंसा और आतंकवाद से मुकाबला करने में सक्षम हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि अभी होली के रंग हैं, कुछ ही दिन बाद रमजान मनाया जाएगा. देश में बुद्ध नववर्ष, गुड फ्राइडे मनाया जाता है. उन्होंने कहा कि इंसानियत के खिलाफ दरिंदगी करने वाले ये नहीं जानते कि ऐसा करने से धर्म का भी नुकसान होता है. आतंकवाद के खिलाफ मुहिम किसी धर्म के खिलाफ नहीं बल्कि मानसिकता के खिलाफ है.

पीएम ने आतंकवाद पर काबू पाने के लिए कहा ही ये केवल मजहबों के पैगाम से ही हो सकता है. भारत में सभी को एक साथ लेकर चलने की परंपरा रही है. उन्होंने यह भी कहा कि आज भारत के मुसलमान के एक हाथ में कुरान है और दूसरे हाथ में कंप्यूटर है. आतंकवाद पर भी पीएम ने अपने विचार रखे. उन्होंने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ मुहिम किसी धर्म के खिलाफ नहीं है. उन्होंने कहा कि किसी भी मजहब का मर्म अमानवीय नहीं हो सकता.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here