वाराणसी: वरुणा तट के शास्त्री घाट पर राम मंदिर निर्माण को लेकर आयोजित राम कथा में पहुंचे बाबर के वंशज प्रिंस याकूब हबीबुद्दिनस तुसी ने कहा कि इंशा अल्लाह, अयोध्या में राम मंदिर बनकर रहेगा. उन्होंने कहा कि बाबर का वंशज होने के नाते मैंने तय किया है कि मैं वहां राम मंदिर बनवाने की कोशिश करूंगा.

याकूब हबीबुद्दिनस तुसी ने राम मंदिर निर्माण और बाबरी मस्जिद के विध्वंस को लेकर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड और वक़्फ़ बोर्ड पर जमकर निशाना साधा. प्रिंस याकूब ने कहा कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की एक फूटी कौड़ी की औकात नहीं है. यह महज एक एनजीओ है. यह दीन के ठेकेदार नहीं हैं. मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की कोई अहमियत नहीं है. वक़्फ़ बोर्ड एक इदारा (संस्था) है. इसकी कोई प्रॉपटी नहीं है. इसलिए उस स्थान पर क्या होना चाहिए, उसका निर्णय हम करेंगे.

बाबर के वंशज प्रिंस याकूब

उन्होंने कहा कि बाबर का वंशज होने के नाते मैं कहता हूं कि रामलला का मंदिर बनवाया जाएगा. प्रिंस तुसी ने कहा कि इस्लाम के मुताबिक़ उस स्थान पर नमाज नहीं पढ़ी जा सकती है, जो विवादित हो. कुछ राजनेता अपने वोट बैंक के लिए मंदिर नहीं बनने देना चाहते हैं और बयानबाजी करते हैं. देश के 80 प्रतिशत लोग चाहते हैं कि देश में अमन आए. मस्जिद कहीं भी बन सकती है. उन्होंने कहा कि हजारों मस्जिद लखनऊ में बंद और बेकार पड़े हैं, उनको खुलवाना चाहिए. वहीं कार्यक्रम में मौजूद संघ प्रचारक मुरारी दास ने देश में अमन चैन के लिए मंदिर का निर्माण अनिवार्य बताया.

Leave a Reply