नोएडा: इस कोरोना के कठिन समय मे भी सुपरटेक अपनी मनमानी और गलत तरीके से धन उगाही की हरकतों से बाज नहीं आ रहा है, हाल ही में उसने तमाम केप टाउन निवासीगण को जल संयोजन के नाम 29500/- का नोटिस भेजा है जबकि यह मांग पूरी तरह गलत है क्योंकि इतना शुल्क प्राधिकरण लेता ही नहीं है ।

साथ ही इस समय सोसाइटी के क्लब आदि सब बंद हैं और फैसिलिटी तथा सिक्योरिटी स्टाफ भी कम आ रहा है लगभग 50% ही है ऐसे में लोगों को मेंटेनेंस शुल्क में राहत मिलनी चाहिए जो कि बिल्डर नहीं दे रहा है ।

इसी तरह विद्युत नियामक प्राधिकरण के निर्देशों को धता बताते हुए बिल्डर 23600/- प्रति किलोवाट बसूल रहा है जिसको अब उसने 15000/- plus GST कर दिया है । जबकि सरकारी शुल्क प्रति किलोवाट बहुत ही कम है ।

इन्हीं मुद्दों को लेकर केप टाउन के निवासीगण में रोष है और वह अपनी मांगों के विषय मे एक मेल बिल्डर को आज शाम कर रहे हैं ।

अगर बिल्डर निवासीगण की मांगों को मानते हुए शुक्रवार तक जबाब नहीं देता है तो रविवार को केप टाउन के निवासी अपनी अपनी बालकनी से थाली आदि बजाकर बिल्डर के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे ।

यह प्रदर्शन केवल और केवल बालकनी से ही किया जाएगा कोई भी नीचे नहीं होगा न ही कहीं कोई निवासी एकत्रित होगा ।यह लोकतांत्रिक लड़ाई लड़ने का तरीका माननीय प्रधानमंत्री जी के ताली और थाली उद्बोधन से प्रेरित है ।

Leave a Reply